आगरा: मरीज की मौत की अफवाह के बाद हॉस्पिटल में तोड़फोड़, महिला स्टॉफ के साथ मारपीट, देखें Video

आगरा के एक निजी अस्पताल में मरीज की मौत के बाद तीमारदारों ने जमकर बवाल किया.  (Video Grab)

आगरा के एक निजी अस्पताल में मरीज की मौत के बाद तीमारदारों ने जमकर बवाल किया. (Video Grab)

Agra News: आगरा के हरीपर्वत में स्थित एक निजी अस्पताल (Private Hospital) में एक मरीज की मौत की अफवाह के बाद तीमारदार भड़क गए. इसके बाद उन्होंने जमकर तोड़फोड़ कर दी और हॉस्पिटल स्टॉफ के साथ जमकर मारपीट की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 2:57 PM IST
  • Share this:
आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra) में हरीपर्वत स्थिति एक निजी अस्पताल (Private Hospital) में तीमारदारों और हॉस्पिटल स्टॉफ के बीच जमकर मारपीट की घटना सामने आई है. पूरा अस्पताल ही जंग का मैदान बन गया. यहां एक मरीज की मौत की अफवाह के बाद हॉस्पिटल में लोगों ने जमकर मारपीट की है. इस पूरे बवाल का वीडियो वायरल (Viral Video) हो गया है. वीडियो में साफ दिख रहा है कि लोगों ने महिला स्टॉफ को भी नहीं बख्शा, उसे भी मारा पीटा है.

वीडियो में साफ दिख रहा है कि गुस्साई भीड़ किस तरह से हॉस्पिटल स्टॉफ के रोकने के बावजूद तोड़फोड़ कर रही है. अस्पताल के दरवाजे और अन्य सामानों को बुरी तरह तोड़ दिया गया है. इस दौरान एक महिला स्टाफ ने जब विरेध किया तो उसे भी लड़कों ने मिलकर बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया.

हॉस्पिटल बना जंग का मैदान

Youtube Video

मरीज की मौत की अफवाह के बाद मारपीट

एसपी सिटी रोहन पी बोत्रे ने बताया कि हरी पर्वत थाना क्षेत्र में एक लोटस हॉस्पिटल है. यहां एक इरफान नाम का व्यक्ति एडमिट है, उसे सेप्टीसीमिया हुआ है. किसी ने अफवाह उड़ाई कि उसकी मृत्यु हो गई है. इसके बाद कुछ लोगों ने हॉस्पिटल स्टाफ के साथ मारपिटाई की है. एक व्यक्ति को रॉड से भी मारा है. नर्सेस के साथ भी मारपीट की गई है. इस संबंध में थाना हरी पर्वत में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है, गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है. जो भी इस केस में वांछित हैं, उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

मथुरा रिफाइनरी से आई राहत की 'सांस'



उधर दूसरी तरफ आगरा को आक्सीजन संकट पर बड़ी राहत मिली है. यहां पहली बार मथुरा रिफाइनरी से आक्सीजन टैंकर आया है. उपाध्याय, सिनर्जी, रवि, पुष्पांजलि, रामरघु, जीआर, रश्मि हॉस्पिटल में लिक्विड आक्सीजन भरी जाएगी. यहां प्रशासन युद्ध स्तर पर सांसों का संकट दूर करने की बड़ी कोशिश कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज