Home /News /uttar-pradesh /

बेटों ने ठुकराया तो पिता ने DM के नाम पर वसीयत कर दी करोड़ों की संपत्ति, जानें पूरा मामला

बेटों ने ठुकराया तो पिता ने DM के नाम पर वसीयत कर दी करोड़ों की संपत्ति, जानें पूरा मामला

Agra: बताया जा रहा है कि उनकी संपत्ति की अनुमानित कीमत 3 करोड़ है.

Agra: बताया जा रहा है कि उनकी संपत्ति की अनुमानित कीमत 3 करोड़ है.

Agra News: दरअसल गणेश शंकर ने अगस्त 2018 में डीएम आगरा के नाम मकान की वसीयत कर दी थी. अब कलेक्ट्रेट जाकर जनता दर्शन में उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट प्रतिपाल चौहान को रजिस्ट्री सौंपी है. सिटी मजिस्ट्रेट प्रतिपाल चौहान ने बताया कि उन्हें वसीयत प्राप्त हुई है. जो जगह उन्होंने डीएम आगरा के नाम की है, जिसकी कीमत लगभग 3 करोड़ रुपये है. वसीयत की एक प्रति उनके भाइयों के पास भी है और भाइयों को इस बात से कोई ऐतराज नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

आगरा. ताजनगरी आगरा (Agra) में 88 वर्षीय बुजुर्ग गणेश शंकर की पूरे शहर में चर्चा हो रही है. बुजुर्ग को बेटों ने सहारा नहीं दिया तो उन्होंने अपनी सारी संपत्ति डीएम (DM) के नाम पर वसीयत कर दी. उन्होंने संपत्ति (Property) की रजिस्टर्ड वसीयत सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपी है. बुजुर्ग का कहना है कि जब बच्चे उनका ख्याल नहीं रख सकते हैं, तो वो भी अपनी संपत्ति उन्हें देना नहीं चाहते हैं. बताया जा रहा है कि उनकी संपत्ति की अनुमानित कीमत 3 करोड़ है.

मामला थाना छत्ता अंतर्गत निरालाबाद पीपल मंडी का है. जानकारी के अनुसार निवासी गणेश शंकर पांडे ने अपने भाई नरेश शंकर पांडे, रघुनाथ और अजय शंकर के साथ मिलकर 1983 में 1 हजार गज जमीन खरीद कर आलीशान घर बनवाया था. मकान की कीमत लगभग 13 करोड़ है. वक्त के साथ चारों भाइयों ने अपना बंटवारा कर लिया. वर्तमान में गणेश शंकर चौथाई मकान के मालिक हैं. जिसकी कीमत लगभग 3 करोड़ रुपए है.

भाइयों का मिला सहारा
गणेश शंकर ने बताया कि उनके दो बेटे हैं, जो घर में रहते हुए भी उनका ध्यान नहीं रखते हैं. उनको दो वक्त के भोजन के लिए भाइयों पर आश्रित होना पड़ रहा है. समझाने पर बेटों ने उनसे नाता तोड़ दिया. इस बात से खफा होकर उन्होंने अपनी सारी संपत्ति डीएम आगरा के नाम कर दी. वर्तमान में वो अपने भाइयों के साथ रह रहे हैं और एक ही घर में होते हुए बेटों से दूर हैं.

सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपी रजिस्ट्री
दरअसल गणेश शंकर ने अगस्त 2018 में डीएम आगरा के नाम मकान की वसीयत कर दी थी. अब कलेक्ट्रेट जाकर जनता दर्शन में उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट प्रतिपाल चौहान को रजिस्ट्री सौंपी है. सिटी मजिस्ट्रेट प्रतिपाल चौहान ने बताया कि उन्हें वसीयत प्राप्त हुई है. जो जगह उन्होंने डीएम आगरा के नाम की है, जिसकी कीमत लगभग 3 करोड़ रुपये है. वसीयत की एक प्रति उनके भाइयों के पास भी है और भाइयों को इस बात से कोई ऐतराज नहीं है.

Tags: Agra news, Agra Police, CM Yogi, Senior Citizens, UP news, UP police, Yogi government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर