Home /News /uttar-pradesh /

आगरा में ताजमहल पर चढ़ी SMOG की चादर, प्रदूषण से धुंधला हुआ ताज का दीदार

आगरा में ताजमहल पर चढ़ी SMOG की चादर, प्रदूषण से धुंधला हुआ ताज का दीदार

धुंध के चलते आगरा में ताजमहल के दीदार हुए मुश्किल.

धुंध के चलते आगरा में ताजमहल के दीदार हुए मुश्किल.

वातावरण में फैले स्मॉग के चलते चंद दूरी से भी ताजमहल (Taj Mahal) का दीदार मुश्किल हो गया है. महताब बाग (Mehtab Bagh) और आगरा फोर्ट (Agra Fort) से सैलानी बड़ी आसानी से विश्व प्रसिद्ध स्मारक ताज का दीदार करते थे लेकिन धुंध ने उन्हें निराश कर दिया.

अधिक पढ़ें ...
आगरा. पूरी दुनिया प्रेम के प्रतीक ताजमहल (Taj Mahal) पर रीझती है लेकिन इन दिनों धुंध (SMOG) ने इस पर प्रदूषण की ऐसी चादर तानी है कि किले से ताजमहल ठीक से नजर नहीं आ रहा है. सफेद संगमरमर से बना ताजमहल की चमक ऐसी है कि तीन किलोमीटर दूरी से भी ताज स्पष्ट नजर आ जाता है. लेकिन दिवाली के बाद प्रदूषण (Pollution) के खतरनाक स्तर से ताज के चारों तरफ धुंध ही धुंध पसरी है. ऐसे में चंद दूरी से भी ताज का दीदार करना मुश्किल हो गया है. महताब बाग और आगरा फोर्ट से सैलानी बड़ी आसानी से विश्व प्रसिद्ध स्मारक ताज का दीदार करते थे लेकिन धुंध ने उन्हें निराश कर दिया. आगरा में यमुना एक्सप्रेसवे और लखनऊ एक्सप्रेसवे पर भी प्रदूषण से उत्पन्न धुंध ने लोगों को परेशान किया है.

सैलानियों को ताजमहल धुंध में खोया-खोया सा नजर आ रहा

आगरा आने वाले पर्यटक किले में जाकर आसानी से ताजमहल का दीदार करते थे. लेकिन शुक्रवार सुबह से किले में आने वाले सैलानियों को ताजमहल धुंध में खोया-खोया सा नजर आ रहा था. शहर में धुंध इतनी अधिक है कि अब सिर्फ ताजमहल परिसर से ही ताज स्पष्ट दिखाई पड़ रहा है. महताब बाग और आगरा किले से ताज के दीदार में कठिनाई हो रही है. सर्दी की दस्तक के साथ ही ताजमहल में सैलानियों का आना बढ़ जाता है.

महताब बाग पहुंचे पर्यटकों और ताजमहल के बीच धुंध दीवार बनी 

बता दें कि गुरुवार को 35 हजार से अधिक सैलानियों ने ताजमहल के दीदार किए थे. ताजमहल को शहर के अलग-अलग स्थानों से देखने की अलग अनुभूति होती है. महताब बाग एकमात्र ऐसी जगह है, जहां से ताजमहल की चारों मीनारें एक साथ नजर आती हैं. ताजमहल की चारों मीनारें एक साथ देखने की हसरत लिए पर्यटक बड़ी संख्या में महताब बाग पहुंचते हैं लेकिन शुक्रवार को महताब बाग पहुंचे पर्यटकों और ताजमहल के बीच धुंध दीवार बन गई और सैलानी निराश हुए. दिवाली के बाद प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है. कई बार एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के करीब चला गया. बढ़ते प्रदूषण से शहर के सभी स्मारकों पर असर पड़ा है.

एक्सप्रेसवे पर भी धुंध का भारी असर

सैलानी स्मृतियां सहेजने के लिए ताजमहल पहुंचकर जो तस्वीरें खिंचाते हैं उससे भी उन्हें संतुष्टि नहीं मिल रही है. धुंध की वजह से पर्यटक ताज की मनमाफिक यादें नहीं सहेज पा रहे हैं. धुंध की वजह से नोएडा और लखनऊ से आने वाले पर्यटकों को भी कठिनाई हो रही है. ताजमहल देखने के लिए आगरा आने वाले पर्यटकों को यमुना एक्सप्रेसवे और लखनऊ एक्सप्रेसवे पर काफी वक्त लग रहा है.

ये भी पढ़ें:

कानपुर: ग्रीन पार्क अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम की पवेलियन में निकला कोबरा

रामपुर: CRPF ग्रुप सेंटर पर आतंकी हमला केस में आज आएगा फैसला

Tags: Agra news, Taj mahal, Up news in hindi, Uttarpradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर