Home /News /uttar-pradesh /

आगरा विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी में है 1 लाख 74 हजार किताबों का खजाना !

आगरा विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी में है 1 लाख 74 हजार किताबों का खजाना !

आगरा

आगरा विश्व विद्यालय की सेंट्रल लाइब्रेरी !

अगर आप किताबें पढ़ने के शौकीन हैं तो आपके लिए डॉक्टर भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी एक बेहतर विकल्प हो सकती है.क्योंकि इसके परिसर में 1लाख 74000 हजार से ज्यादा किताबों का भंडार है.इसके अलावा नेटवर्किंग लाइब्रेरी में बैठकर देश दुनिया भर के 26 सौ से अधिक समाचार पत्रों को आप पढ़ सकते हैं.सेंट्रल लाइब्रेरी की स्थापना 1927 में विश्वविद्यालय के साथ ही हुई थी

अधिक पढ़ें ...

    अगर आप किताबें पढ़ने के शौकीन हैं तो आपके लिए डॉक्टर भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी एक बेहतर विकल्प हो सकती है.क्योंकि इसके परिसर में 1लाख 74000 हजार से ज्यादा किताबों का भंडार है.इसके अलावा नेटवर्किंग लाइब्रेरी में बैठकर देश दुनिया भर के 26 सौ से अधिक समाचार पत्रों को आप पढ़ सकते हैं.सेंट्रल लाइब्रेरी की स्थापना 1927 में विश्वविद्यालय के साथ ही हुई थी. लेकिन इसे अपना भवन 1953 में मिला.पालीवाली पार्क कैंपस में 2500 स्क्वायर फीट में यह लाइब्रेरी फैली हुई है. 4 मंजिला तक यह बिल्डिंग बनाई गई है .जिसमें ग्राउंड फ्लोर से लेकर 4 फ्लोर तक किताबें भरी हुई पड़ी है. इस लाइब्रेरी का लोकार्पण के वक्त के. एम मुंशी प्रदेश के गवर्नर थे.जबकि लेफ्टिनेंट कर्नल सीबी महाजन कुलपति थे. दिल्ली के आर्किटेक्ट जीसी शर्मा एंड संस ने इसका डिजाइन तैयार किया था.उस वक्त आगरा में अहमद हुसैन जिला अधिकारी हुआ करते थे यह बिल्डिंग शिल्प अंग्रेजी और मुगलिया शासनकाल का मिलता-जुलता रूप है जो आज भी उसी शक़्ल में मौजूद है.

    ई लाइब्रेरी में छात्रों के लिए हैं लाखों पुस्तकें, घर बैठे पढ़ सकते हैं 2600 सौ से ज्यादा न्यूज़ पेपर.
    डिप्टी लाइब्रेरियन डॉ कृष्ण कुमार केसरवानी ने बताया कि लाइब्रेरी में छात्रों के लिए यूपीएससी से लेकर संस्कृत ,हिंदी, इंग्लिश के लिए तमाम किताबें मौजूद हैं. इसके साथ ही कोविड़ के आने के बाद से बहुत सारी चीजें इंटरनेट पर उपलब्ध हुई.जिनमें से आगरा विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी भी एक है.लाइब्रेरी के माध्यम से अब विद्यार्थी घर बैठे सीधे तौर पर इस सेंट्रल लाइब्रेरी सेजुड़ सकते हैं और हजारों किताब अपने मोबाइल पर पढ़ सकते हैं. इसके साथ ही आम स्टूडेंट के अलावा आवासी छात्र भी लाइब्रेरी का थोड़ा शुल्क चुका कर यहां अध्ययन कर सकते हैं.

    पुस्तकालय से जुड़ी जानकारियां.

    20,000 से अधिक इस इस इस लाइब्रेरी में उपलब्ध है.12 हजार के करीब सभी विषयों पर आधारित शोध पत्र हैं.इसके अलावा इस पुस्तकालय में पच्चीस हजार के करीब रिफरेंस बुक भी उपलब्ध हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर