UP: हनीट्रैप में फंसाकर लोगों को लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश, पुलिस ने 4 को किया गिरफ्तार

ग्रोवर ने बताया, ‘तब पुलिस ने सर्विलांस के माध्यम से अभियुक्तों की लोकेशन तलाश कर पहले पलवल के होडल कस्बे के बेड़ापट्टी निवासी अमरपाल सोरोत (35) को धर दबोचा. (सांकेतिक फोटो)

ग्रोवर ने बताया, ‘तब पुलिस ने सर्विलांस के माध्यम से अभियुक्तों की लोकेशन तलाश कर पहले पलवल के होडल कस्बे के बेड़ापट्टी निवासी अमरपाल सोरोत (35) को धर दबोचा. (सांकेतिक फोटो)

लड़की के साथ दोस्ती के बाद अमीर लोगों को बलात्कार और मुकदमे की धमकी देकर पैसे ऐंठने के काले कारोबार का पुलिस ने किया खुलासा. पीड़ित की शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज.

  • Share this:



मथुरा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मथुरा जनपद में पुलिस ने अंतर्राज्यीय स्तर पर ‘हनीट्रैप’ (Honeytrap) के सहारे धनवान लोगों को साजिश का शिकार बनाकर उनसे लाखों की रकम ऐंठने वाले गिरोह के सरगना समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है. साथ ही पुलिस ने 10 लाख रुपए ऐंठने की उनकी साजिश को विफल कर दिया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर (Gaurav Grover) ने बताया, ‘इस गिरोह द्वारा लोगों को फंसाने के बारे में पता तब लगा, जब फरीदाबाद (हरियाणा) के छायसां निवासी भिक्की भाटी पुत्र सोहन लाल ने मथुरा के थाने में मामला दर्ज कराया.

भाटी ने आरोप लगाया कि पिछले महीने 26 दिसम्बर को रिया नामक एक लड़की का फोन आया और उसने उसे वल्लभगढ़ बुलाया. दोनों की मुलाकात बेहद अच्छी रही और बाद में उसके साथ उसकी दोस्ती हो गई. उसने अगले ही दिन मथुरा घुमाने का आग्रह कर यहां बुलाया. उसके आमंत्रण पर वे अपने मित्र के देवेंद्र के साथ मथुरा आ गए.’ उन्होंने पुलिस को बताया कि जब हम लोग मथुरा में घूम ही रहे थे, तभी टाउनशिप तिराहे के पास अमरपाल सोरोत, जतिन साहू, राजेश उर्फ राजू भाटी एवं दिव्या शर्मा ने हमारी गाड़ी रोक कर रिया को बुला लिया.
 विभिन्न धाराओं के अधीन मामला दर्ज कराया

भाटी ने अपनी शिकायत में कहा है कि उसके सामने ही उन लोगों ने आरोप लगाया कि मैंने रिया के साथ बलात्कार किया है. इसलिए मैं इसके एवज में उन्हें दस लाख रुपए दूं. अगर ऐसा न किया, तो मेरे खिलाफ बलात्कार का झूठा मुकदमा दर्ज करा देंगे. उन्होंने हम दोनों को रोक लिया और बताई गई रकम देने के बाद ही छोड़ने को कहा.’ भाटी ने एसएसपी को बताया कि जान छुड़ाने के लिए उसके पास जितनी भी रकम थी, दे दी और बाकी 30 दिसम्बर को भुगतान करने का आश्वासन देकर जान छुड़ाई. एसएसपी ने बताया कि इसके बाद पीड़ित ने थाने पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ 29 दिसम्बर को मामला दर्ज कराया.

मामले की हो रही जांच



एसएसपी ने बताया, ‘पुलिस ने सर्विलांस के माध्यम से अभियुक्तों की लोकेशन तलाश कर पहले पलवल के होडल कस्बे के बेड़ापट्टी निवासी अमरपाल सोरोत (35) को धर दबोचा. अमरपाल ने पुलिस को बताया कि वह काफी समय से धनाढ्य लोगों को अपने गिरोह की महिला मित्रों की सहायता से फंसाकर झूठे मुकदमे का भय दिखाकर उनसे रुपए ऐंठता था. यदि कोई व्यक्ति रुपए नहीं देता, तो उसके विरुद्ध बलात्कार का झूठा मुकदमा लिखवाकर समझौते के नाम पर मोटी रकम वसूलकर मामला रफा-दफा करा देता था. पुलिस ने पकड़े गये आरोपी से पूछताछ के बाद तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज कर इसकी जांच की जा रही है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज