Home /News /uttar-pradesh /

UP Election 2022 :- UP चुनावों में नही होगी रैली,बैनर पोस्टर बनाने वालों के चहरे पर छाई मायूसी !

UP Election 2022 :- UP चुनावों में नही होगी रैली,बैनर पोस्टर बनाने वालों के चहरे पर छाई मायूसी !

बैनर

बैनर पोस्टर का काम करते मजदूर !

UP 2022 के चुनावों का आगाज हो चुका है.7 चरणों मे चुनाव होने जा रहे हैं . आगरा में पहले चरण में ही विधानसभा के चुनाव होने जा रहे हैं. लेकिन इस बा?

    UP 2022 के चुनावों का आगाज हो चुका है.7 चरणों मे चुनाव होने जा रहे हैं . आगरा में पहले चरण में ही विधानसभा के चुनाव होने जा रहे हैं. लेकिन इस बार इलेक्शन कमीशन ने 2022 के चुनावों के प्रचार प्रसार के लिए अलग ही गाइडलाइंस जारी की है. कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इस बार चुनावों में अब वर्चुअल रैली होंगी .यानि कि जहां चुनाव में बैलेट पेपर, बैनर, होल्डिंग, पोस्ट देखे जाते थे, अब ये सब चीजें बेहद कम संख्या में देखने को मिलेंगी. बड़ी बड़ी रैलियां नहीं होंगी. अब इसकी वजह से एडवर्टाइजमेंट से जुड़े हुए लोगों व मजदूरों के चेहरे पर मायूसी छाई हुई है.

    आगरा है बैनर ,पोस्टर ,पेम्पलेट बनाने का हब.

    आगरा के संजय पैलेस में चुनावीसामग्री बैनर ,पोस्टर ,पंपलेट बनवाने का हब है. संजय पैलेस में हजारों की संख्या में मजदूर काम करते हैं. कई सौ मजदूरों का रोजगार इस व्यवसाय से जुड़ा है. लेकिन इस बार 2022 के विधानसभा चुनाव में वर्चुअल मोड में रैली का आयोजन होने से इन मजदूरों के चेहरों पर मायूसी छाई हुई है ,क्योंकि लंबे समय से ये लोग इंतजार कर रहे थे कि इस बार विधानसभा चुनाव आएंगे और इनका भी व्यापार खूब फूलेगा फलेगा .

    कोविड-19 की वजह से ठप पड़ा था बाजार, चुनावों से थी आश
    एडवर्टाइजमेंट का काम करने वाले अमरेश नाथ ने कहा कि वह इस व्यवसाय में 20 सालों से हैं.उन्होंने कभी ऐसा दौर नहीं देखा कि चुनावों में बैनर ,पोस्टर, होल्डिंग का प्रयोग नहीं किया जाएगा या फिर रैलियां नहीं होंगी.पहली बार देश में वर्चुअल रैलियां हो रही हैं.कोविड़ की वजह से उनका व्यापार पहले ही ठप पड़ा था.5 साल के बाद चुनाव होते हैं और चुनाव इनके लिए एक उत्सव के जैसा है.बड़े-बड़े आर्डर इन्हें चुनावों में मिलते थे.इस बार इन्हें उम्मीद थी कि चुनावों में अच्छा और बड़ा आर्डर मिलेगा.लेकिन ऐसा नही होगा.कई सारे मजदूर उनकी शॉप में काम करते हैं लेकिन अब ना रैली होगी और ना बड़े आर्डर मिलेंगे.जिसकी वजह से अब इनके मजदूरों के चेहरे पर भी मायूसी छाई हुई है .

    चुनाव आयोग को बीच का रास्ता निकालना चाहिए था
    विज्ञापन व्यवसाय से जुड़े हुए लोगों का कहना है कि चुनाव आयोग को बीच का रास्ता निकालना चाहिए था.चुनाव हमारे लिए उत्सव की तरह होता है.इन्हीं में हम मुनाफा कमाते हैं.लेकिन अब वर्चुअल मोड में रैली होंगी तो बैनर, पोस्टर और बड़े-बड़े होर्डिंग नहीं लगाए जाएंगे.

    Tags: Agra news, UP Election 2022

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर