अपना शहर चुनें

States

UP Panchayat Chunav 2021: चुनाव से पहले पुलिस हुई सक्रिय, गांव-गांव जाकर लगा रही है चौपाल

 झगड़े का कारण जानने के बाद पुलिस दोनों पक्षों से संपर्क कर शांत करवा रही है. (सांकेतिक फोटो)
झगड़े का कारण जानने के बाद पुलिस दोनों पक्षों से संपर्क कर शांत करवा रही है. (सांकेतिक फोटो)

यूपी पुलिस (UP Police) चौपाल लगाने के साथ-साथ लोगों से संपर्क बढ़ाने के साथ ही डिजिटल वालेंटियरों को सक्रिय कर रही है.

  • Share this:
आगरा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में होने वाले पंचायत चुनावों (Panchayat Election) को लेकर तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है.  इसी बीच पुलिस भी सक्रिय हो गई है. लोगों को जागरुक करने के लिए पुलिस गांव-गांव जाकर चौपाल (Chaupal) लगा रही है. साथ ही लोगों को शांति तरीके से चुनाव तैयारी कराने की ससाल दे रही है. दरअसल, गांवों में छोटी-मोटी बातों पर लड़ाई- झगड़े हो जाते हैं. यही वजह है कि शांति तरीके से चुनाव कराने के लिए गांव-गांव जाकर चौपाल लगा रही है.

जानकारी के मुताबिक, यूपी पुलिस चौपाल लगाने के साथ-साथ लोगों से संपर्क बढ़ाने के साथ ही डिजिटल वालेंटियरों को सक्रिय कर रही है. पुरानी रंजिशों की जानकारी लेने का बाद पुलिस लोगों को शांति से चुनाव की तैयारी करने की सलाह दे रही है. वहीं, पिछले पंचायत चुनाव में जिन गांवों में झगड़े हुए थे, उनके बारे में पता किया जा रहा है. झगड़े का कारण जानने के बाद पुलिस दोनों पक्षों से संपर्क कर शांत करवा रही है. कहा जा रहा है कि एसएसपी बबलू कुमार ने सभी थानेदारों को अपने-अपने क्षेत्र के गांवों का भ्रमण करने के निर्देश दिए हैं. गांवों की हर गतिविधि की जानकारी थाने तक पहुंचे, इसके लिए सूचना तंत्र मजबूत किया जा जा रहा है. सोमवार को जगनेर के गांव कांसपुरा, सैंया के गांव मोहनपुर, अछनेरा के गांव अरदाया, बासौनी के गांव बढ़ोत, खेड़ा राठौर के गांव कंसपुरा, चित्राहाट के गांव गोविंद नगर में पुलिस ने भ्रमण कर लोगों से संपर्क किया.

डाटा फीड करने का काम किया जा रहा है
वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आी थी कि उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां लगभग अंतिम चरण में हैं. जिला और पंचायत स्तर पर चुनाव को लेकर अलर्ट जारी है. हर स्तर पर कर्मचारियों को ​प्रशिक्षण देकर चुनाव के लिए तैयार किया जा रहा है. ऐसे में मेरठ में पंचायत चुनाव अप्रैल में कराने की घोषणा की गई है. जिसको लेकर युद्ध स्तर पर तैयारियां चल रही हैं. चुनाव ड्यूटी के लिए सरकारी विभाग के कर्मचारियों का डेटा फीड करने का काम भी जारी है. मतदान और मतगणना की ड्यूटी के लिए जिले के लगभग 520 विभिन्न विभागों के कार्मिकों और अफसरों का डाटा फीड करने का काम किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज