• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Namaste Trump: जिस गेट से US प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ताजमहल में करेंगे प्रवेश, वहां है बंदरों का कब्जा

Namaste Trump: जिस गेट से US प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ताजमहल में करेंगे प्रवेश, वहां है बंदरों का कब्जा

जिस गेट से ताजमहल में प्रवेश करेंगे अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प वहां बंदरों का कब्ज़ा है.

जिस गेट से ताजमहल में प्रवेश करेंगे अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प वहां बंदरों का कब्ज़ा है.

Namaste Trump: ताजमहल के पूर्वी गेट से जो तस्वीर सामने आई है, वह जिला प्रशासन को चौंकाने वाली है. ताजमहल (Taj Mahal) के पूर्वी गेट पर पर बंदरों का कब्जा है.

  • Share this:
आगरा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (US President Donald Trump) के आगरा दौरे से पहले योगी सरकार (Yogi Government) ने तमाम तैयारियां की हैं. ट्रम्प के स्वागत को ऐतिहासिक बनाने के लिए ताजनगरी का पूरी तरह से कायाकल्प किया जा चुका है. खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तैयारियों का जायजा ले चुके हैं. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि संदेश स्वागत का ही जाना चाहिए, लेकिन जिला प्रशासन की सबसे बड़ी चुनौती बंदरों का आतंक और छुट्टा जानवर हैं.

24 फ़रवरी को अमेरकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प आगरा पहुंच रहे हैं, लेकिन इस बीच ताजमहल के पूर्वी गेट से जो तस्वीर सामने आई है वह जिला प्रशासन को चौंकाने वाली है. ताजमहल के पूर्वी गेट पर पर बंदरों का का कब्जा है. बंदरों के झुंड की तस्वीर न्यूज़ 18 के कैमरे में क़ैद हुई है. ताजमहल के पूर्वी गेट से ही राष्ट्रपति ट्रम्प की ताजमहल में एंट्री होनी है. ऐसे में बंदरों की दखल से सुरक्षा व्यवथा में सेंध लग सकती है.

आवारा जानवरों से जूझ रहा है आगरा
पिछले कुछ महीनों में बंदरों और आवारा पशुओं के आतंक से शहरवासी के साथ ही विदेशी सैलानी भी परेशान हुए हैं. आगरा शहर बंदरों के आतंक से जूझ रहा है यह बात किसी से छिपी नहीं है. इनके हमले से कई लोगों की मौत भी हो चुकी है. वहीं, छुट्टा जानवर भी शहरवासियों के लिए आतंक का पर्याय बन चुके हैं. उत्तर प्रदेश के आगरा में ताजमहल के आसपास बेलगाम आवारा जानवरों और बंदरों का आतंक कम होने के नाम नहीं ले रहा है. आए दिन देशी विदेशी पर्यटक इस आतंक का शिकार हो रहे हैं. इसी माह के 2 फ़रवरी को डेनमार्क के पर्यटक को वहां घूम रहे एक सांड ने पटक दिया. विदेशी सैलानी के सिर में चोट लगी. इससे पहले पिछले साल ताजमहल के अन्दर ही विदेशी सैलैनियों पर बंदरों ने हमला कर दिया था.

Agra monkey menace
सुरक्षा व्यवस्था के लिए चुनौती बने बंदर.


गौरतलब है कि आगरा एयरपोर्ट से ताजमहल की 15 किमी की दूरी ट्रम्प 12 मिनट में पूरी करेंगे. इस दौरान जिस रास्ते उनका काफिला गुजरेगा, वहां कर्फ्यू जैसा माहौल होगा. किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी. इतना ही नहीं कोई भी मोबाइल फ़ोन का प्रयोग नहीं कर पायेगा. यह व्यवस्था तो इंसानों के लिए है, लेकिन जानवरों के लिए क्या? यह सवाल इसलिए भी अहम है, क्योंकि आगरा निवासी इस समस्या से प्रतिदिन दोचार होते रहते हैं.

जिला प्रशासन के हाथ-पैर फुले
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की सुरक्षा को लेकर पुलिस, पीएसी, आईटीबीपी के साथ ही सीआरपीएफ़ की तैनाती की गई है. बड़ी से बड़ी सुरक्षा को भेदकर बंदर ताजमहल के पूर्वी गेट पर क़ब्ज़ा जमाए हुए हैं. बंदरों की गुलाटी और उनकी घुड़की पर्यटकों को डराती रही है. बंदरों की उछलकूद रोकने के इंतज़ाम को लेकर आगरा के आईजी सतीश गणेश कहते हैं कि वन विभाग को पत्र लिखा गया है. पत्र में बंदर और मधुमक्खी का ज़िक्र है. अब देखना होगा की ट्रम्प के ताजमहल आगमन के वक़्त आख़िर बंदरों के झुंड को कैसे रोका जाएगा. बंदरों के साथ-साथ ताज के इर्दगिर्द घूमते जानवरों के आतंक से जिला प्रशासन के हाथ पांव फूले नज़र आ रहे हैं.


ये भी पढ़ें:

डॉ. कफील खान के मामा की गोली मारकर हत्या, सामने आया यह विवाद

बसपा में 'परिवारवाद' के सहारे कहीं मायावती वारिस तो नहीं तलाश रहीं?

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज