Home /News /uttar-pradesh /

देखिए आगरा कैंट की ऐतिहासिक रामलीला,जहां प्रभु श्री राम ने किया रावण अंत

देखिए आगरा कैंट की ऐतिहासिक रामलीला,जहां प्रभु श्री राम ने किया रावण अंत

प्रभु

प्रभु श्री राम और रावण की सेना के बीच रामलीला मंच पर युद्ध के दृश्य

पिछले 2 सालों से कोविड़ महामारी का साया दशहरा पर पड़ा है .इस बार भी दशहरा इस महामारी से अछूता नहीं रहा. प्रशासन ने खुले में रावण का पुतला दहन करने की अनुमति नहीं दी. लेकिन जिन मंचों पर रामलीला हो रही है बिना पुतला दहन किए रामलीला पूरी नहीं हो सकती. इस वजह से कई जगहों पर छोटे-छोटे स्वरूप बनाकर रावण के पुतले का दहन किया गया.

अधिक पढ़ें ...

    बुराई कितनी भी बढ़ जाए लेकिन उसका अंत हमेशा होता है. इसी को चरितार्थ किया आगरा छावनी के रामलीला मंच पर, प्रभु श्री राम और रावण की दोनों सेनाओं के बीच में घमासान युद्ध हुआ.इस युद्ध का परिणाम रावण के वध के साथ समाप्त हुआ.यानी की बुराई पर अच्छाई की जीत हुई और इसी के बाद रावण का पुतला दहन किया गया. बुराइयों को जलाया गया और फिर से पूरे विश्व को यह संदेश दिया कि हमेशा बुराई पर अच्छाई की जीत होती है. यह दृश्य आगरा की ऐतिहासिक रामलीला का है.

    इस बार भी रहा दशहरा पर कोविड़ का साया 
    पिछले 2 सालों से कोविड़ महामारी का साया दशहरा पर पड़ा है .इस बार भी दशहरा इस महामारी से अछूता नहीं रहा. प्रशासन ने खुले में रावण का पुतला दहन करने की अनुमति नहीं दी. लेकिन जिन मंचों पर रामलीला हो रही है बिना पुतला दहन किए रामलीला पूरी नहीं हो सकती. इस वजह से कई जगहों पर छोटे-छोटे स्वरूप बनाकर रावण के पुतले का दहन किया गया और इस बीच कोविड़ गाइडलाइंस का पालन भी किया गया.

    रावण के गुणों से भी लेनी चाहिए हमें सीख
    रावण का किरदार निभा रहे शख्स ने कहा कि हमें वर्तमान समय में रावण के गुणों से भी कुछ सीख लेनी चाहिए.आजकल जिस दौर से हम गुजर रहे हैं वहां पर लूट, हत्या, डकैती, बलात्कार जैसी घटनाएं हर रोज होती है. इन लोगों के अंदर भी बुराई का एक रावण है. सबसे पहले उसे खत्म करने की जरूरत है. रावण महान पंडित और विद्वान था. वह शिव का परम भक्त था. इसलिए हमें रावण के गुणों का भी अनुसरण करते हुए वर्तमान समय की बुराइयों को समाप्त करना ही दशहरा मनाने के सही मायने होंगे.

    (हरीकांत शर्मा की रिपोर्ट)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर