Home /News /uttar-pradesh /

हेलिकॉप्टर हादसे में CDS रावत के साथ शहीद हुए आगरा के विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान

हेलिकॉप्टर हादसे में CDS रावत के साथ शहीद हुए आगरा के विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान

कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साथ आगरा निवासी विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान भी मौजूद थे.

कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साथ आगरा निवासी विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान भी मौजूद थे.

Air Force Helicopter Crash: कुन्नूर में जो हेलिकॉप्टर हादसा हुआ है उसमें सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साथ आगरा निवासी विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान भी मौजूद थे. पृथ्वी सिंह भी इस दुखद हादसे में शहीद हो गए हैं. उनके न्यू आगरा थाना क्षेत्र के शरण नगर स्थित आवास पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हैं. यहां सन्नाटा पसरा है. पृथ्वी के 72 वर्षीय पिता सुरेंद्र सिंह ने बताया कि पृथ्‍वी उनके इकलौते पुत्र थे.

अधिक पढ़ें ...

आगरा. कुन्नूर में जो हेलिकॉप्टर (Helicopter) हादसा हुआ है उसमें सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साथ आगरा निवासी विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान (Wing Commander Prithvi Singh Chauhan) भी मौजूद थे. पृथ्वी सिंह चौहान भी इस दुखद हादसे में शहीद हो गए हैं. उनके न्यू आगरा थाना क्षेत्र के शरण नगर स्थित आवास पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हैं. आगरा के न्‍यू आगरा इलाके में पृथ्‍वी सिंह चौहान के घर पर भीड़ जुट चुकी है. इस हादसे की सूचना के बाद यहां सन्नाटा पसरा है.

ताज नगरी में विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान के 72 वर्षीय पिता सुरेंद्र सिंह ने बताया कि पृथ्‍वी उनके इकलौते पुत्र थे. सरन नगर में परिवार निवास करता है. पिता ने कहा कि मुंबई में रह रही उनकी सबसे बड़ी बेटी शकुंतला ने टीवी पर खबर देख पृथ्‍वी की पत्‍नी कामिनी को फोन किया. वहां से उन्‍हें बेटे के निधन की जानकारी मिली. पिता सुरेंद्र सिंह ने कहा कि पृथ्‍वी वर्तमान में 42 साल के थे और चार बहनों में सबसे छोटे भाई थे. बड़ी बहन शकुंतला, दूसरी मीना, गीता और नीता हैं.

पृथ्‍वी सिंह ने छठवीं कक्षा में सैनिक स्‍कूल रीवा में दाखिला लिया था. वहीं से एनडीए में चयनित हो गए. वर्ष 2000 में उनकी भारतीय वायुसेना में ज्‍वाइनिंग हुई. वर्तमान में वह विंग कमांडर थे और कोयम्‍बटूर के पास एयरफोर्स स्‍टेशन पर उनकी तैनाती थी. पृथ्‍वी का विवाह सन 2007 में वृंदावन निवासी कामिनी से हुआ. उनके बेटी आराध्‍या 12 वर्ष और अविराज नौ वर्ष का पुत्र है.

मां सुशीला देवी ने बताया कि जब हेलिकॉप्टर क्रेश होने की खबर आई तो बड़ी बेटी शकुंतला ने अपने भाई पृथ्‍वी को फोन किया. उनका फोन स्विच ऑफ जा रहा था. इस पर बहू कामिनी को संपर्क साधा, कामिनी ने इस दुखद हादसे की जानकारी दी.

पृथ्‍वी की पहली पोस्टिंग हैदराबाद हुई थी

विंग कमांडर पृथ्‍वी सिंह चौहान एयरफोर्स ज्‍वाइन करने के बाद पृथ्‍वी की पहली पोस्टिंग हैदराबाद हुई थी. इसके बाद वे गोरखपुर, गुवाहाटी, ऊधमसिंह नगर, जामनगर, अंडमान निकोबार सहित अन्‍य एयरफोर्स स्‍टेशन्‍स पर तैनात रहे. उन्‍हें एक वर्ष की विशेष ट्रेनिंग के लिए सूडान भी भेजा गया था. विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान के शहीद होने की खबर मिलते ही पूरे शहर में शोक की लहर दौड़ पड़ी. बड़ी संख्या में लोग उनके आवास पर एकत्र हो गए हैं.

Tags: Agra news, Cds bipin rawat death, Coonoor Helicopter Crash, Uttar pradesh news, Wing Commander Prithvi Singh Chauhan Death

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर