Home /News /uttar-pradesh /

womens cricket booms in agra after deepti sharma and poonam yadav in indian cricket team

आगरा: क्रिकेट की पिच पर महिला खिलाड़ी जमकर बहा रही हैं पसीना, देश के लिए वर्ल्‍ड कप लाना है सपना

Agra Cricket News: आगरा की बेटियां क्रिकेट की पिच पर जमकर पसीना बहा रही हैं. आंखों में एक ही सपना है कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम में सेलेक्ट होकर अपने देश के लिये वर्ल्ड कप लाएं. हालांकि इससे पहले आगरा से निकलीं पूनम यादव, दीप्ति शर्मा, हेमलता काला और प्रीति डिमरी ने अपना दम दिखाया है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट-हरि कांत शर्मा

    आगरा. आज भी छोटे शहरों और खासकर गांव में लड़कियों के क्रिकेट खेल को बेहतर करियर ऑप्शन के तौर पर नहीं देखा जाता है. हालांकि बहुत से ऐसे परिवार भी हैं जहां बेटियों को बेटों से कम नहीं आंका जाता. इस वक्‍त आगरा की बेटियां क्रिकेट की पिच पर जमकर पसीना बहा रही हैं. आंखों में एक ही सपना है कि इंडियन क्रिकेट वुमन टीम में सेलेक्ट होकर अपने देश के लिये वर्ल्ड कप लाना है.

    वैसे आगरा की महिला क्रिकेट खिलाड़ियों ने पहले ही इंटरनेशनल लेवल पर शहर और प्रदेश का नाम रोशन किया है ,फिर चाहे वह पूनम यादव, दीप्ति शर्मा, हेमलता काला और प्रीति डिमरी ही क्यों ना हों.अब इन सभी महिला क्रिकेटर को अपना आदर्श मानकर आगरा के आसपास के जिलों की कई लड़कियां फतेहाबाद रोड स्थित गांव लकावली में क्रिकेट की बारीकियां सीख रही हैं.

    कोच मनोज कुशवाहा के नेतृत्व में तैयार हो रही है नई पौध
    आगरा सदर के रहने वाले मनोज कुशवाहा सीनियर कोच हैं. वह पिछले 15 सालों से क्रिकेट के गुर खिलाड़ियों को सिखा रहे हैं. इन्हीं के नेतृत्व में नई क्रिकेट वुमन टीम की पौध तैयार हो रही है. जबकि मनोज कुशवाहा लाकवली गांव में पिछले 3 सालों से क्रिकेट एकेडमी चला रहे हैं. इस एकेडमी में लड़कों के साथ-साथ आसपास के जिलों की कई लड़कियां भी क्रिकेट की बारीकियां सीख रही हैं. आगरा की मशहूर क्रिकेटर पूनम यादव को भी मनोज कुशवाहा ने लंबे समय तक ट्रेंड किया था. उनकी एकेडमी में अंडर 14 की कई लड़कियों के अलावा मथुरा, अलीगढ़ और आजमगढ़ जैसे जिलों से भी लड़कियां दिन रात अपना पसीना बहा रही हैं.

    अब तक 18 से 20 लड़कियां बोर्ड ट्रॉफी खेल चुकी हैं
    क्रिकेट कोच मनोज कुशवाह बताते हैं कि अब तक 18 से 20 ऐसी लड़कियां हैं जो बोर्ड ट्रॉफी खेल चुकी हैं. कई सारी लड़कियां रेलवे में जॉब कर रही हैं. जबकि फतेहाबाद रोड कर्नल ब्राइटलैंड स्कूल के पास लकावली गांव है, वहां पर एकेडमी चलाई जाती है. सुबह शाम की दो शिफ्ट है जिसमें क्रिकेट की ट्रेनिंग दी जाती है. मनोज कुशवाहा बताते हैं कि फीस का यहां पर कोई मानक नहीं है. सबसे पहले बच्चे का टैलेंट देखा जाता है. अगर बच्चे में टैलेंट है तो वह उसे फ्री में भी कोचिंग उपलब्ध कराते हैं. उनका बस एक ही मकसद है कि जल्द से जल्द आगरा को बेहतर और होनहार खिलाड़ी मिलें, फिर चाहे वह लड़का हो या लड़की.

    Tags: Agra news, Cricket news, Indian women cricketer

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर