Home /News /uttar-pradesh /

लखनऊ: शिक्षक भर्ती के लिए प्रदर्शन कर रहे अभ्‍यर्थियों पर लाठीचार्ज, वरुण गांधी ने पूछा- भर्तियां क्‍यों नहीं?

लखनऊ: शिक्षक भर्ती के लिए प्रदर्शन कर रहे अभ्‍यर्थियों पर लाठीचार्ज, वरुण गांधी ने पूछा- भर्तियां क्‍यों नहीं?

यूपी पुलिस ने किया लाठीचार्ज. (Pic- Video Grab Twitter)

यूपी पुलिस ने किया लाठीचार्ज. (Pic- Video Grab Twitter)

Lucknow Lathi Charge on Teachers: बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने भी इस घटना की निंदा करते हुए सवाल उठाए हैं. उन्‍होंने ट्वीट किया, 'ये बच्चे भी मां भारती के लाल हैं, इनकी बात मानना तो दूर, कोई सुनने को तैयार नहीं है. इस पर भी इनके ऊपर ये बर्बर लाठीचार्ज. अपने दिल पर हाथ रखकर सोचिए क्या ये आपके बच्चे होते तो इनके साथ यही व्यवहार होता?? आपके पास रिक्तियां भी हैं और योग्य अभ्यर्थी भी, तो भर्तियां क्यों नहीं??'

अधिक पढ़ें ...

    लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में 69,000 शिक्षकों की भर्ती का मामला लंबे समय से अहम मुद्दा बना हुआ है. इसे लेकर एक बार फिर अभ्‍यर्थियों और शिक्षकों ने लखनऊ (Lucknow) में विरोध प्रदर्शन कर बहाली की मांग की. इस दौरान जुटे सैकड़ों शिक्षकों पर पुलिस ने लाठीचार्ज (Police Lathi Charge) भी किया है. घटना के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिनमें दिख रहा है कि शिक्षकों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा जा रहा है. इस घटना को लेकर विपक्षी पार्टियों ने प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है.

    यूपी शिक्षक भर्ती को लेकर अभ्‍यर्थी शनिवार शाम को कैंडिल मार्च निकाल रहे थे. इसी दौरान पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उनपर लाठीचार्ज किया. उनकी मांग थी कि 69 हजार शिक्षक की बहाली की जाए. साथ ही उन्‍होंने मांग उठाई है कि इसमें 22 हजार सीटें और जोड़ी जाएं. कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना पर यूपी सरकार को घेरा है. उन्‍होंने कहा है, ‘रोज़गार मांगने वालों को यूपी सरकार ने लाठियां दीं. जब बीजेपी वोट मांगने आए तो याद रखना!’

    बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने भी इस घटना की निंदा करते हुए सवाल उठाए हैं. उन्‍होंने ट्वीट किया, ‘ये बच्चे भी मां भारती के लाल हैं, इनकी बात मानना तो दूर, कोई सुनने को तैयार नहीं है. इस पर भी इनके ऊपर ये बर्बर लाठीचार्ज. अपने दिल पर हाथ रखकर सोचिए क्या ये आपके बच्चे होते तो इनके साथ यही व्यवहार होता?? आपके पास रिक्तियां भी हैं और योग्य अभ्यर्थी भी, तो भर्तियां क्यों नहीं??’

    इस घटना की निंदा करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधा है. उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, ‘बीजेपी के राज में भावी शिक्षकों पर लाठीचार्ज करके ‘विश्व गुरु’ बनने का मार्ग प्रशस्त किया जा रहा है. हम 69000 शिक्षक भर्ती की मांगों के साथ हैं. युवा कहे आज का- नहीं चाहिए बीजेपी.’

    वहीं मायावती ने कहा, ‘यूपी में 69 हजार शिक्षक भर्ती के पुराने व लंबित मामले को लेकर राजधानी लखनऊ में कल रात शान्तिपूर्ण कैंडल मार्च निकालने वाले सैकड़ों युवाओं का पुलिस लाठीचार्ज करके घायल करना अति-दुखद व निन्दनीय. सरकार इनकी जायज मांगों पर तुरंत सहानुभूतिपूर्वक विचार करे, बीएसपी की यह मांग.’

    वहीं राज्यसभा सासंद और आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह ने भी ट्वीट कर योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा, ‘आदित्यनाथ जी जितना मन चाहे इन बेरोजगार नौजवानों को पिटवा लीजिये लेकिन दो बात याद रखिएगा. इन्हीं नौजवानों ने आपको सत्ता के शिखर तक पहुंचाया. बेरोज़गारों पर हो रहे जुर्म आपकी सत्ता के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी.’

    इसके अलावा कांग्रेस के यूपी प्रमुख अजय कुमार लल्‍लू ने कहा है कि लखनऊ में पिछड़े और दलित बच्चों पर पुलिस लाठीचार्ज यूपी सरकार के लिए आखिरी कील साबित होगी. उत्तर प्रदेश ओबीसी, एससी/एसटी उम्मीदवारों के अधिकारों को नहीं भूलेगा.’

    Tags: Akhilesh yadav, Lucknow news, Teachers Protest, UP police, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर