COVID-19: अलीगढ़ में 7 नए मामले सामने आए, कुल केस बढ़कर 24 हुए
Aligarh News in Hindi

COVID-19: अलीगढ़ में 7 नए मामले सामने आए, कुल केस बढ़कर 24 हुए
सईद भोपाली का मंगलवार को फिर एक नया वीडियो वायरल हुआ है. (Demo Pic)

अलीगढ़ (Aligarh) में कोविड-19 (COVID-19) के 7 नए मामले सामने आए हैं. इससे जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है.

  • Share this:
अलीगढ़. अलीगढ़ (Aligarh) में कोविड-19 (COVID-19) के 7 नए मामले सामने आए हैं. इससे जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है. जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह ने सोमवार को बताया कि जेएन मेडिकल कॉलेज से 7 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इन लोगों के परिवार को क्वारंटाइन कर दिया गया है तथा कोरोना संक्रमितों को एल 1 अस्पताल में भर्ती कराया गया है. संक्रमित लोगों के घर के एक किलोमीटर के एरिया को सील कर दिया गया है. सील एरिया में नगर निगम सेनेटाइज करने का काम कर रही है. डीएम ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का पालन ही इस वायरस के संकमण से बचने का एक मात्र तरीका है.

एल1 अस्पताल में भर्ती हैं 22 संक्रमित
डीएम ने बताया है कि जिले के 24 कोरोना संक्रमित मरीजों में से एक की मृत्यु हो चुकी है. एक मरीज ठीक होकर घर वापस जा चुका है. शेष 22 मरीज अभी एल1 अस्पताल में भर्ती हैं, जिनका इलाज चल रहा है. डीएम ने एक बार फिर जनता से अपील की है कि लोग लॉकडाउन का पालन करें, सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रहें और अपने घर पर ही रहें, सुरक्षित रहें. यदि आप या आपका कोई जानकार कोरोना संक्रमित के संपर्क में आया है तो उसकी सूचना तत्काल जिला प्रशासन या कंट्रोल रूम को दें ताकि कोरोना की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्रवाई की जा सके.

2000 के करीब पहुंची यूपी में संक्रमितों की संख्या
उत्तर प्रदेश में सोमवार को (COVID-19) से संक्रमित मरीजों की संख्या 2000 के करीब पहुंच गई है. प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने सोमवार को बताया कि अभी तक प्रदेश में कुल संक्रमित मरीज 1955 हैं. इनमें एक्टिव मरीज (Active Patients) की संख्या 1589 है. जबकि प्रदेश में अब तक 59 जिलों में संक्रमण फैला है. उन्होंने बताया कि एक नया जिला झांसी जुड़ा है. 9 ज़िलों में अभी कोई एक्टिव संक्रमित मरीज नहीं है. प्रमुख सचिव ने बताया कि 335 मरीज अब डिस्चार्ज हो चुके हैं. वही प्रदेश में अब तक इस वायरस के संक्रमण से 31 लोगों की मौत हुई है. कुल 1784 मरीज आइसोलेशन और 11363 मरीज क्‍वारंटाइन सेंटर में भर्ती हैं.



इलाजरत एक भी मरीज वेंटिलेटर पर नहीं
उन्होंने बताया कि अस्पताल में इलाजरत किसी भी मरीज को वेंटिलेटर पर नहीं रखा गया है. भर्ती मरीजों में से 15 को ऑक्सीजन दी जा रही है और सभी की हालत स्थिर है. अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मेडिकल इन्फेक्शन रोकने के लिए जनपद स्तर पर समिति बनायी जा रही है. आदेश जारी कर दिया गया है. शाम तक समिति का गठन हो जाएगा, जो अपर मुख्य चिकित्साधिकारी के नेतृत्व में काम करेगी.

संक्रमण को छिपाने की आवश्यकता नहीं
अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि संक्रमण को छिपाने की आवश्यकता नहीं है. अगर सूखी खांसी, सांस लेने में तकलीफ और बुखार के लक्षण आ रहे हों तो तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र जाकर जांच करायें. प्रमुख सचिव ने कहा, 'अगर समय से पता चल जाए तो किसी तरह की कोई कठिनाई नहीं होती. ऐसा देखने में आया है कि जहां तबियत ज्यादा खराब हुई या मौत हुई, वहां या तो व्यक्ति को पहले से कोई गंभीर बीमारी थी या फिर देर से अस्पताल आये.' उन्होंने कहा कि इसी वजह से आवश्यक है कि जैसे ही लक्षण आयें, तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र जाकर सलाह लें. कोरोना वायरस संक्रमण की जांच और चिकित्सा सरकार की ओर से नि:शुल्क करायी जा रही है.

ये भी पढे़ं 

लॉकडाउन: फ्रांसीसी परिवार ने सनातन धर्म को अपनाया, सीख रहा है पूजा-मंत्रोच्चार

लॉकडाउन में बिहार पुलिस: पांव थक जाते हैं, पर इरादे नहीं डगमगाते 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading