Home /News /uttar-pradesh /

Aligarh News:-जानिए पूरे विश्व में मशहूर अलीगढ़ के तालों का मुगलकालीन इतिहास

Aligarh News:-जानिए पूरे विश्व में मशहूर अलीगढ़ के तालों का मुगलकालीन इतिहास

अलीगढ़

अलीगढ़ के ताले इतने प्रसिद्ध है कि इसे ताला नगरी के नाम से जाना जाता है

अलीगढ़ के तालें अपनी अलग डिज़ाइन के कारण अधिक प्रसिद्ध हैं. अलीगढ़ में बहुत कंपनियां तालों का निर्माण करती हैं.जिनमे करीब 1 लाख़ से अधिक लोगों को रोजगार मिलता है.साथ ही अलीगढ़ एक ऐसा क्षेत्र हैं जहां हिन्दू और मुसलमान एक साथ मिलकर तालों का कारोबार करते हैं.साथ मिल जुलकर कार्य करने का एक कारण ताला उद्योग का अलीगढ़ में एक कुटीर उद्योग होना भी हैं.

अधिक पढ़ें ...

    उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है अलीगढ़ नगर, अलीगढ़ विश्वविद्यालय के साथ तालों के लिए विश्व प्रसिद्ध है.अलीगढ़ का प्राचीन नाम ‘कोइल’ या ‘कोल’ है यह शहर भारत का 55 वां सबसे बड़ा शहर है जो तालों की नगरी के नाम से मशहूर है.तालों का प्रयोग घरों के दरवाजो पर, वाहनों, मूल्यवान आभुषणों आदि मूल्यवान वस्तुओं को सुरक्षित करने के लिए लगाया जाता हैं.करीब 130 सालों पहले जॉनसंस एंड कम्पनी ने अलीगढ़ में तालों का निर्माण शुरू किया था और देश और विदेश के हर हिस्से में यहां के तालों की धमक हैं.

    अलीगढ़ के तालें अपनी अलग डिज़ाइन के कारण अधिक प्रसिद्ध हैं. अलीगढ़ में बहुत कंपनियां तालों का निर्माण करती हैं.जिनमे करीब 1 लाख़ से अधिक लोगों को रोजगार मिलता है.साथ ही अलीगढ़ एक ऐसा क्षेत्र हैं जहां हिन्दू और मुसलमान एक साथ मिलकर तालों का कारोबार करते हैं.साथ मिल जुलकर कार्य करने का एक कारण ताला उद्योग का अलीगढ़ में एक कुटीर उद्योग होना भी हैं.क्योंकि कोई घर में लॉकरों को लगाता हैं कोई पॉलिश करता हैं कोई तालें बनाता हैं कोई चाबी की खुदाई (चाबी को आकार देने का कार्य) करता हैं इस प्रकार अलग-अलग लोग अलग-अलग कार्य अपने घरों में करते हैं.

    सन् 1870 ई. में इंग्लैड में एक व्यक्ति ने कम्पनी खोली और वह कम्पनी अलीगढ़ की जॉनसंस कम्पनी से तालों का व्यापार करने लगी ताले और पीतल कलाकृतियों का निर्माण अलीगढ़ में किया जाता है.अलीगढ़ के ताले इतने प्रसिद्ध हैं कि इसे ताला नगरी के नाम से जाना जाता है.अलीगढ़ के ताला उद्योग से जुड़े राजीव कुमार ने बताया कि उनकी कंपनी 1972 से लगातार ताले बना रही है उन्होंने कई बार ऐसे अद्भुत ताले बनाए हैं जिस की डिमांड पूरी करने के लिए डेढ़ साल तक 20 घंटे प्रतिदिन प्लांट चलाना पड़ा था.रामसन कंपनी के ताले वर्ल्ड के कई देशों में जाते हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर