लाइव टीवी

जामिया के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की भी परीक्षाएं रद्द, जानिए कारण

News18Hindi
Updated: January 15, 2020, 8:31 PM IST
जामिया के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की भी परीक्षाएं रद्द, जानिए कारण
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी. (फाइल फोटो)

जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) के बाद अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) में भी परीक्षाएं रद्द हो गई हैं. परीक्षाओं के रद्द करने का कारण अपरिहार्य परिस्थितियां बताई हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 8:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) के बाद अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) में भी परीक्षाएं कैंसल हो गई हैं. यूनिवर्सिटी प्रशासन ने परीक्षाओं को रद्द करने का कारण अपरिहार्य परिस्थितियां बताई है. एएमयू के परीक्षा नियंत्रक के कार्यालय ने बुधवार को एक नोटिस जारी किया है. नोटिस के मुताबिक, विभागाध्यक्षों और अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया.

नोटिस के अनुसार, सर्दी की छुट्टियों के बाद खुली यूनिवर्सिटी में होने वाली परीक्षाएं अपरिहार्य कारणों से रद्द कर दी गई है. बची हुई परीक्षाओं का नया टाइम टेबल संबंधित विभागाध्यक्ष और कॉलेज तैयार करेंगे, जिसका नोटिफिकेशन अलग से जारी होगा. वीसी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई एक बैठक में इसका निर्णय लिया गया.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, परीक्षा, जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली, अलीगढ़, Aligarh Muslim University, Examination, Jamia Millia Islamia, Delhi, Aligarh
परीक्षा नियंत्रक कार्यालय से जारी लेटर.


16 जनवरी से शुरू हो रही हैं पढ़ाई

इसके अलावा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 16 जनवरी से क्लासेज शुरू होने जा रही है. नोटिस के अनुसार, मेडिसिन, यूनानी मेडिसिन, मैनेजमेंट स्टडीज और जाकिर हूसैन कॉलेज ऑफ इंजिनियरिंग और टेक्नोलॉजी में 16 जनवरी से क्लास शुरू होगी. इसके अलावा 20 जनवरी से लॉ, कॉमर्स, साइंस, लाइफ साइंस और एग्रीकल्चर साइंस की पढ़ाई शुरू होगी. वहीं आर्टस, सोशल साइंस, इंटरनेशनल स्टडीज के अलावा पॉलिटेक्निक और कॉम्यूनिटी कॉलेज में 25 जनवरी से क्लासेज शुरू होने जा रहे हैं. सीएए के विरोध के दौरान हुई हिंसा के बाद से यहां तनाव है. वहीं जेएनयू की घटना के बाद भी यहां के छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया था.

पुलिस के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने का लिया था फैसला
आपको बता दें कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने 15 दिसंबर की रात को छात्रावास में कथित तौर पर घुसने के मामले में पुलिस के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने का फैसला लिया है. हिंसक झड़प की घटना के एक महीने बाद यह निर्णय लिया गया.पुलिस को नहीं मिली थी हॉस्टल में घुसने की अनुमति
इस संबंध में यूनिवर्सिटी प्रशासन का मानना है कि पुलिस ने तब अपनी शक्तियों का दुरुपयोग किया जब वह 15 दिसंबर को परिसर के एक छात्रावास में घुसी थी. एएमयू के वीसी प्रो. तारिक मंसूर ने बताया कि हमने (यूनिवर्सिटी प्रशासन) ने पुलिस से भीड़ हटाकर रास्ता खुलवाने और स्थिति सामान्य करने को कहा था लेकिन हमने पुलिस को छात्रावास में घुसने की इजाजत कभी नहीं दी थी.

छात्रों ने लगाया था ये आरोप
दरअसल 15 दिसंबर की घटना में घायल छात्रों ने आरोप लगाया था कि पुलिस जबरन आफताब हाल छात्रावास और वीआईपी गेस्ट हाउस में घुस गयी और छात्रों के साथ जबरदस्ती की जिसके कारण काफी संख्या में छात्र घायल हो गये.

(इनपुट भाषा से भी)

ये भी पढ़ें: 

जामिया पहुंचीं आइशी घोष, कहा- इस लड़ाई में हम कश्मीर को पीछे नहीं छोड़ सकते

निर्भया के दोषी मुकेश ने फांसी रोकने के लिए पटियाला कोर्ट में दायर की याचिका

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 7:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर