होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अलीगढ़ हत्याकांड: दो और आरोपी गिरफ्तार, अब मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

अलीगढ़ हत्याकांड: दो और आरोपी गिरफ्तार, अब मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

अलीगढ़ कांड: दो और आरोपी गिरफ्तार

अलीगढ़ कांड: दो और आरोपी गिरफ्तार

मुख्य आरोपी जाहिद की पत्नी और भाई को विशेष जांच टीम ने सुबह गिरफ्तार किया. इससे पहले जाहिद और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार ...अधिक पढ़ें

    अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की नृशंस हत्या के सिलसिले में पुलिस ने दो और लोगों को शनिवार को गिरफ्तार किया गया. इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुख्य आरोपी जाहिद की पत्नी और भाई को विशेष जांच टीम ने सुबह गिरफ्तार किया. इससे पहले जाहिद और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं इस मामले में अलीगढ़ के जिलाधिकारी ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. शांति-व्यवस्था को कायम रखने के लिए आधा दर्जन बड़े अफसरों की ड्यूटी लगाई गई है. 2 एडीएम और 4 एसडीएम सहित 7 अफसरों को तत्काल प्रभाव से तैनात किया गया है.

    अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ मजबूत मामला बना रही है, ताकि यह सभी कानूनी प्रक्रियाओं पर खरा उतरे और फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए तेजी से न्याय सुनिश्चित हो सके. सभी संदिग्धों के फोन रिकॉर्ड खंगाले जा रहे हैं.

    कुलहरि शुक्रवार देर रात तक घटनास्थल पर मौजूद थे. उन्होंने कहा कि अगर कोई अफवाह फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करता है या शांति भंग करने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

    आरोपियों पर चल रहे हैं यौन अपराध के केस
    कुलहरि ने पुष्टि की कि जो दो लोग पकडे़ गये हैं, उनमें से एक की उम्र लगभग 43 साल है और उसका आपराधिक इतिहास भी है. उसके खिलाफ गुंडा एक्ट लग चुका है और नाबालिगों के साथ यौन अपराध के लिए दो बार कार्रवाई हुई है. उन्होंने बताया कि उक्त आरोपी के खिलाफ पॉक्सो के दो अलग-अलग मामले तथा बलात्कार का एक मामला लंबित है. दिल्ली में अपहरण के एक मामले में वह जेल गया था.

    कई जगहों पर निकले कैंडल लाइट जुलूस
    वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि तीन डाक्टरों के पैनल ने बच्ची के शव का पोस्टमार्टम किया. उन्हें बलात्कार का कोई साक्ष्य नहीं मिला. हालांकि, फॉरेंसिक विशेषज्ञ नमूनों की जांच कर रहे हैं. इस बीच, नृशंस हत्या के खिलाफ विरोध प्रकट करने के लिए कई जगहों पर कैंडल लाइट जुलूस निकाले गये.

    AMU के छात्रों ने कानून में बदलाव की मांग की
    अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के शिक्षकों और छात्रों ने इस जघन्य हत्या की कड़ी निन्दा की है. उन्होंने अपराध को अंजाम देने वालों को जल्द और कड़े से कड़ा दंड देने की मांग की. एएमयू शिक्षक संघ की विशेष बैठक में मांग की गयी कि फास्ट ट्रैक कोर्ट का तत्काल गठन किया जाए. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों ने परिसर में कैंडल लाइट मार्च किया. छात्रों ने कानून में बदलाव की मांग की, ताकि ऐसे अपराधियों को उसी तरह का कड़ा दंड मिल सके, जैसा सऊदी अरब में मिलता है. .

    ये है पूरा मामला
    एसएचओ सहित पांच पुलिसकर्मियों को मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है. बच्ची टप्पल कस्बे से 30 मई को गायब हुई थी. उसका शव तीन दिन बाद घर के निकट कूडे़ के ढेर पर पड़ा मिला था.

    ये भी पढ़ें: 

    यूपी में बेटियां सुरक्षित नहीं, क्या कर रही है सरकार: अखिलेश

    अलीगढ़ में मासूम हत्या की पूरी हकीकत, अतिसंवेदनशील मामले की 10 सच्चाई

    अलीगढ़ हत्‍याकांड: असलम, जाहिद और उसकी पत्‍नी ने कत्‍ल कर फ्रिज में रखा दी थी मासूम की लाश

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    Tags: Aligarh news, Minor girl rape

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें