Home /News /uttar-pradesh /

अलीगढ़:-प्रो.अब्बास को मौलाना अबुल आजाद अवार्ड मिलने से एएमयू में खुशी

अलीगढ़:-प्रो.अब्बास को मौलाना अबुल आजाद अवार्ड मिलने से एएमयू में खुशी

प्रो.

प्रो. अब्बास को ‘मौलाना अबुल आजाद अवार्ड’ मिलने से एएमयू में खुशी की लहर

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में उर्दू विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं सर सैयद एकेडमी के पूर्व निर्देशक प्रोफेसर असगर अब्बास को उत्तर प्रदेश उर्दू एकेडमी का सर्वोच्च पुरस्कार मौलाना अबुल आजाद अवार्ड मिलने से एएमयू में खुशी की लहर दौड़ गई.

अधिक पढ़ें ...

    अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में उर्दू विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं सर सैयद एकेडमी के पूर्व निर्देशक प्रोफेसर असगर अब्बास को उत्तर प्रदेश उर्दू एकेडमी का सर्वोच्च पुरस्कार मौलाना अबुल आजाद अवार्ड मिलने से एएमयू में खुशी की लहर दौड़ गई.गोरखपुर निवासी प्रोफेसर असगर अब्बास ने मुस्लिम विश्वविद्यालय के संस्थापक सर सैयद अहमद खान की पत्रकारिता पर उर्दू में पीएचडी की थी.इस अवार्ड के तहत उनकों 5 लाख रुपए दिये जाएंगे.अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पब्लिक रिलेशन ऑफिसर उमर सलीम पीरजादा ने प्रोफेसर असगर अब्बास को बधाई दी उन्होंने कहा कि प्रोफेसर असगर अब्बास को उर्दू एकेडमी का सर्वोच्च पुरस्कार ‘मौलाना अबुल आजाद अवार्ड’ मिलने से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की उपलब्धियों में उनके नाम एक और पन्ना जुड़ गया है.

    एएमयू में देश नहीं बल्कि विदेश के भी विद्यार्थी शिक्षा ले रहे हैं अफ्रीका, पश्चिमी एशिया, दक्षिण-पूर्व एशिया, सार्क व राष्ट्रमंडल देशों के विद्यार्थियों से एएमयू परिसर गुलजार है.हालांकि कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत वह ऑनलाइन शिक्षा ले रहे हैं.अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय परिसर में दो बार टाइम कैप्सूल दफन किए गए हैं. विश्वविद्यालय के 100 साल पूरा होने पर वर्ष 2020 में उसके इतिहास को सहेजने के लिए टाइम कैप्सूल को जमीन में दफन किया गया था, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की मौलाना आजाद लाइब्रेरी में 14 लाख से ज्यादा किताबें और दुर्लभ पांडुलिपियां हैं.सात मंजिला लाइब्रेरी की बुनियाद 1877 में वायसराय लॉर्ड लिटन ने मोहम्मद एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज की स्थापना के समय रखी थी.बाद में 1960 में लाइब्रेरी का उद्घाटन प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने किया था,जिसका नाम देश के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद के नाम से मौलाना आजाद लाइब्रेरी रखा गया लाइब्रेरी में उर्दू, फारसी, संस्कृत और अरबी भाषाओं में दुर्लभ पांडुलिपियों और पुस्तकों का विश्व प्रसिद्ध भंडार है इस्लाम, हिंदू धर्म आदि पर दुर्लभ और अमूल्य पांडुलिपियां हैं कुरान की एक प्रति 1400 वर्ष से अधिक पुरानी है.

    Tags: अलीगढ़

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर