होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अलीगढ़:-जानिए कैसे डिजिटल चुनाव प्रचार-प्रसार ने टेंट और साउंड कारोबारियों के अरमानों पर फेरा पानी

अलीगढ़:-जानिए कैसे डिजिटल चुनाव प्रचार-प्रसार ने टेंट और साउंड कारोबारियों के अरमानों पर फेरा पानी

पिछले लंबे समय से कोरोना की मार झेल रहे टेंट कारोबारियों को लगातार आर्थिक मंदी का दंश झेलना पड़ रहा है.चुनाव के दौरान बड़ ...अधिक पढ़ें

    पिछले लंबे समय से कोरोना की मार झेल रहे टेंट कारोबारियों को लगातार आर्थिक मंदी का दंश झेलना पड़ रहा है.चुनाव के दौरान बड़ी चुनावी जन सभाओं पर रोक लगी हुई है.जिसकी वजह से टेंट व साउंड कारोबारियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है.जिले की सातों विधानसभा सीटों पर वर्चुअल चुनाव प्रचार किया जा रहा है.इससे टेंट कारोबारियों को बड़ा झटका लगा है.कारोबारियों का कहना है कि पिछले चुनाव में करीब ₹5 करोड़ का व्यापार हुआ था जो इस साल 10 फ़ीसदी से भी कम सिमट कर रह गया है.जनपद अलीगढ़ में लगभग 400 से अधिक टेंट कारोबारी हैं सभी टेंट कारोबारियों ने चुनाव को लेकर तैयारियां भी कर के रखी थीं,लेकिन कोरोना की मार झेल रहे टेंट कारोबारियों को इस बार भी मायूसी ही हाथ लगी है.टेंट कारोबारियों का कहना है कि इस बार उनको काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है.

    टेंट कारोबारी ने बताया कि 2017 में जर्मन पंडाल सीएम और पीएम की रैलियों में लगता था जो काफी महंगा होता था.इसका रेट अब ₹60 वर्ग फुट है बड़ी चुनाव सभाओं में यह पंडाल लगाए जाते थे.जिसमें 25 से 30 लाख रुपए का खर्चा आता था.इससे उन्हें अच्छी कमाई हो जाती थी.यह पंडाल पूरी तरह से वाटरप्रूफ भी होता था.अलीगढ़ के टेंट व्यापारी ने बताया कि पिछले चुनावों में जिले में लगभग 20 बड़ी रैलियां हुई थीं.इससे व्यापारियों को अच्छा काम मिला था.चुनाव के समय प्रत्येक व्यापारी को लगभग 5 से 10 लाख रुपए का व्यापार हुआ करता था.जिसको लेकर इन कारोबारियों ने इस साल चुनाव के पहले से ही तैयारियां कर रखी थीं.लेकिन डिजिटल चुनाव प्रचार–प्रसार ने पूरा कारोबार ही ठप कर दिया है.

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    Tags: Aligarh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें