होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अलीगढ़:-जानिए किस खानदान की तीसरी पीढ़ी लगातार संभाल रही है एएमयू के चांसलर की कमान

अलीगढ़:-जानिए किस खानदान की तीसरी पीढ़ी लगातार संभाल रही है एएमयू के चांसलर की कमान

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी बनने के बाद एक ही खानदान के कई लोगों का चांसलर बनने का रिकॉर्ड सिर्फ सैयदना परिवार के पास ही ...अधिक पढ़ें

    अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के चांसलर पद की जिम्मेदारी सैयदना खानदान की तीसरी पीढ़ी लगातार संभाल रही है.12 अप्रैल 1953 को एएमयू के चांसलर बने थे सैयदना ताहिर सैफउद्दीन अब यह जिम्मेदारी उनके पौत्र सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन संभाल रहे हैं. सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन,2014 में दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय के प्रमुख बने थे.दाऊदी बोहरा समुदाय इस्माइली शिया इस्लाम का उप-समुदाय है, दाऊदी बोहरा समुदाय की पहचान एक प्रोग्रेसिव, समृद्ध, संभ्रांत और पढ़ा-लिखे समुदाय की है. जिसके ज्यादातर लोग व्यापारी हैं, समुदाय मुख्यत: गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश में रहते हैं.

    अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी बनने के बाद एक ही खानदान के कई लोगों का चांसलर बनने का रिकॉर्ड सिर्फ सैयदना परिवार के पास ही है.मदरसे से यूनिवर्सिटी तक का सफर तय करने में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को 45 साल लग गए थे जिसकी स्थापना सर सैयद अहमद खां ने की थी.सैयदना ताहिर सैफुद्दीन के बाद उनके बेटे सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन (3 अक्टूबर 1999) को एएमयू के चांसलर बने थे.इसके बाद उनके बेटे सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन 11 अप्रैल 2015 को एएमयू के चांसलर बने और आज भी हैं. सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन का जन्म 20 अगस्त 1946 को सूरत ( गुजरात ) में हुआ था.

    अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एसोसिएट मेंबर इंचार्ज डॉ राहत अबरार ने बताया कि एएमयू के चांसलर की कमान 1953 से 2022 तक सैयदना परिवार पर ही है.इससे पहले अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की पहली चांसलर बेगम सुल्तान बनी थीं उसके बाद बेगम सुल्तान के बेटे नवाब हमीदुल्लाह खान चांसलर बने और अब 69 साल से सैयदना परिवार इस जिम्मेदारी को निभा रहा है. 11 अप्रैल 2015 को सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन एएमयू के चांसलर बने और आज भी जिम्मेदारी निभा रहे हैं. अपने दादा के नक्शेकदम पर ही चलते हैं और 1953 से 2022 तक अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में काफी वाद-विवाद भी देखा और उसका निस्तारण भी कराया.

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें