Home /News /uttar-pradesh /

अलीगढ़:-जानिए आखिर क्यों कब्रिस्तान से शव को निकालकर पहुंचाया गया श्मशान घाट 

अलीगढ़:-जानिए आखिर क्यों कब्रिस्तान से शव को निकालकर पहुंचाया गया श्मशान घाट 

कब्रिस्तान

कब्रिस्तान से शव को निकालकर, श्मशान घाट पहुंचाया

पुलिस ने टोपी और दाढ़ी से मुस्लिम समझ अज्ञात के शव को कब्रिस्तान की कब्र में दफनाया गया था,जहां अज्ञात शव की शिनाख्त न होने पर पहले 23 नवंबर को मुस्लिम रीति रिवाज के साथ आईटीआई रोड नुमाइश ग्राउंड स्थित कब्रिस्तान में कब्र खोदकर शव दफनाया गया था.लेकिन फिर कब्र से अज्ञात शव को निकाल कर दोबारा हिंदू रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया गया.

अधिक पढ़ें ...

    जानिए आखिर क्यों अलीगढ़ में कब्रिस्तान से शव को निकाल कर श्मशान घाट पहुंचाया गया.दरअसल सिर पर सफेद रंग की मुस्लिम टोपी और चेहरे पर लंबी दाढ़ी होने पर हिंदू धर्म के अज्ञात व्यक्ति के शव की 72 घंटे बाद शिनाख्त नहीं हुई, तो पुलिस ने टोपी और दाढ़ी से मुस्लिम समझ अज्ञात के शव को कब्रिस्तान की कब्र में दफनाया गया था,जहां अज्ञात शव की शिनाख्त न होने पर पहले 23 नवंबर को मुस्लिम रीति रिवाज के साथ आईटीआई रोड नुमाइश ग्राउंड स्थित कब्रिस्तान में कब्र खोदकर शव दफनाया गया था.लेकिन फिर जब कब्र से अज्ञात शव को निकाल कर दोबारा हिंदू रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार करने अजीबोगरीब मामला सामने आया है.जहां कोतवाली बन्नादेवी इलाके के आईटीआई रोड स्थित चांदवारी कब्रिस्तान में एक अज्ञात शव का पुलिस कर्मियों द्वारा मुस्लिम बताते हुए मुस्लिम रीति रिवाज के साथ उसका 26 नवंबर को अंतिम संस्कार करा दिया था.लेकिन बाद में पता चला कि कब्रिस्तान की कब्र में दफनाया गया शव हिंदू धर्म का था,जिसकी 72 घंटे तक शिनाख्त नहीं हो पाई थी.

    लेकिन बाद में पता चला तो हिंदू परिवार के लोगों ने मुस्लिम धर्म के अनुसारसुपुर्दे खाक लिए जाने को लेकरआपत्ति जताई तो परिजनों की गुहार पर डीएम के आदेश के बाद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में कब्रिस्तान में दफन किए गए शव को कब्र से खोदकर बाहर निकलवाते हुए हिंदू परिवार के लोगों के शव को हिंदू धर्म के अनुसार अंतिम संस्कार किया गया.

    जानिए क्या है पूरा माजरा
    दरअसल थाना क्वार्सी क्षेत्र में एक 60 वर्षीय बुजुर्ग का शव 23 नवंबर को सुमागम मार्केट के पास पड़ा हुआ मिला था.पुलिस कर्मियों के द्वारा 72 घंटे उस अज्ञात शव को शिनाख्त के लिए रखवाया गया था.जहां 72 घंटे बीतने के बाद जब 60 वर्षीय बुजुर्ग के अज्ञात शव की शिनाख्त नहीं हो सकी थी तो पुलिस ने बुजुर्ग के शव की शिनाख्त नहीं होने पर उस अज्ञात शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम कराया था.जिसके बाद अज्ञात शव का मुस्लिम रीति रिवाज के साथ 26 नवंबर को मानव उपकार संस्था के लोगों की मदद से चांदवारी आईटीआई रोड नुमाइश ग्राउंड स्थित शव दफनाया गया था.लेकिन जब अज्ञात शव की शिनाख्त थाना क्वार्सी क्षेत्र विक्रम कॉलोनी निवासी ब्रह्मजीत सिंह के रूप में हुई हड़कंप मच गया.बताया जा रहा है कि मृतक ब्रह्मजीत सिंह की तैनाती क्वार्सी स्थित कृषि विभाग में थी.परिजनों ने हिंदू रीति रिवाज के साथ दोबारा से शव का अंतिम संस्कार किया गया.

    Tags: Aligarh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर