AMU की छुट्टियां बढ़ाईं, अब 6 जनवरी को नहीं खुलेगी यूनिवर्सिटी
Aligarh News in Hindi

AMU की छुट्टियां बढ़ाईं, अब 6 जनवरी को नहीं खुलेगी यूनिवर्सिटी
यूनिवर्सिटी को अब चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा.

एएमयू (AMU) में बीते 15 दिसम्बर को हुई छात्रों और पुलिस की हिंसक झड़प के बाद यूनिवर्सिटी को बंद करते हुए कहा गया था कि अब 6 जनवरी को शैक्षिक कार्य शुरू होगा, लेकिन वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर (VC Professor Tariq Mansoor) की अध्यक्षता हुई यूनिवर्सिटी प्रशासन की बैठक में छुट्टियां बढ़ाने का फैसला किया गया है.

  • Share this:
अलीगढ़. एएमयू (AMU) में बीते 15 दिसम्बर को हुई छात्रों और पुलिस की हिंसक झड़प के बाद यूनिवर्सिटी को उपद्रव की रात को ही 5 जनवरी तक बंद रखने का आदेश जारी कर दिया गया था. आदेश के मुताबिक 6 जनवरी को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) खुलने के बाद उसमें शैक्षिक कार्य शुरू होना था, लेकिन आज वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर (VC Professor Tariq Mansoor) की अध्यक्षता हुई यूनिवर्सिटी प्रशासन की बैठक में निर्णय लिया गया है कि यूनिवर्सिटी को अभी नहीं खोला जाएगा. साफ है कि यूनिवर्सिटी में छुट्टियां अभी और दिन जारी रहेंगी. जबकि अगले कुछ दिनों में होने वाली यूनिवर्सिटी प्रशासन की बैठक में इसके चरणबद्ध खुलने की तिथियों का ऐलान किया जाएगा.

इस वजह से बढ़ाई तारीख
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पीआरओ ऑफिस इंचार्ज साफे किदवई ने बताया कि आज एक मीटिंग वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर की अध्यक्षता में की गई थी, जिसमें ये जायजा भी लिया गया कि माहौल कैसा चल रहा है. यूनिवर्सिटी में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक व कच्छ से लेकर कोहिमा तक के स्टूडेंट्स पढ़ते हैं, जिसको देखते हुए यूनिवर्सिटी प्रशासन की हुई मीटिंग में ये निर्णय लिया गया है कि आगामी 6 जनवरी को जो यूनिवर्सिटी खुलने की तिथि थी उस दिन यूनिवर्सिटी को नहीं खोला जाएगा, बल्कि छुट्टी को अब आगे बढ़ा दिया गया है. साथ ही यूनिवर्सिटी को अब चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा, जिसका ख़ाका तैयार किया जा रहा है.

पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष फैजुल हसन ने कही ये बात
एएमयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष फैजुल हसन ने यूनिवर्सिटी को बंद रखने के निर्णय पर कहा कि ये बेवकूफी भरा निर्णय है, जहां एक ओर यूनिवर्सिटी के वीसी ने कहा था कि महज जल्दबाज़ी में गलती हुई थी, वहीं दूसरी ओर अब ये इस प्रकार का निर्णय ले रहे हैं. अब जिन बच्चों ने बस, फ्लाइट या ट्रेन का टिकट करा लिया है उनका क्या होगा. इसलिए मैं अपने भाई-बहनों से ये अपील कर रहा हूं कि आप लोग आइए और लड़िए, क्योंकि ये आपका हमारा संवैधानिक अधिकार है. आकर हमें मिलकर मूवमेंट को आगे बढ़ाना है. सीएए व एनआरसी के ख़िलाफ तो लड़ाई जारी रहेगी. अब यूनिवर्सिटी प्रशासन के विरुद्ध भी हमें लड़ाई को जारी रखनी है. वीसी या अन्य प्रशासन से यूनिवर्सिटी नहीं है बल्कि स्टूडेंट्स से यूनिवर्सिटी है.



 

ये भी पढ़ें-

NPR विवादः यूपी BJP चीफ ने दी अखिलेश को सलाह- पाकिस्तान में 1 माह बिताएं

 

CAA हिंसा पर योगी सरकार का बड़ा एक्शन, PFI से जुड़े 25 लोग गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading