होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /लकड़ी का जहाज और 2000 साल पुरानी गौतम बुद्ध की प्रतिमा देखने के लिए उमड़ी भीड़, देखें VIDEO

लकड़ी का जहाज और 2000 साल पुरानी गौतम बुद्ध की प्रतिमा देखने के लिए उमड़ी भीड़, देखें VIDEO

अलीगढ़ के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के मूसा डाकरी संग्रहालय में मौजूद है लकड़ी से बना जहाज और 2 हजार साल पुरानी गौतम ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: वसीम अहमद
अलीगढ़.
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के मूसा डाकरी संग्रहालय में मौजूद है लकड़ी से बना जहाज और 2 हजार साल पुरानी गौतम बुद्ध की दुर्लभ प्रतिमा. ये लोगों का आकर्षन का केंद्र बनी हुई है. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी तालीम के अलावा अपने इतिहास के लिए भी जानी जाती है यह यूनिवसिर्टी अपने आप मे कई दुर्लभ चीज़ो को समेटे हुए है और कई संग्रहालय भी इस विश्विधालय मे मजूद हैं.

ऐसे ही अलीगढ़ मुस्लिम विश्विधालय में मौजूद है मूसा डाकरी संग्रहालय इस संग्रहालय में गौतम बुद्ध की करीब दो हजार साल पुरानी दुर्लभ प्रतिमा और लकड़ी से बना जहाज मौजूद है जो लोगों का आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. संग्रहालय की दुर्लभ चीजें देखकर हर किसी की नजर नहीं हटती. संग्रहालय में शिलालेख, स्तूप, खुदाई में मिले सदियों पुराने बर्तन, खिलौने भी अपना महत्व बयां कर रहे हैं.

सदियों पुरानी चीज़े हैँ मौजूद
संग्रहालय में यूनिवर्सिटी के संस्थापक सर सैयद अहमद खान द्वारा ऐतिहासिक चीजों का अद्वितीय संग्रह किया गया था. संग्रहालय में 1-2वीं सदी की गौतम बुद्ध की बैठने की मुद्रा की दुर्लभ प्रतिमा रखी है, जो खंडित है.11-12वीं सदी का सूर्य, आदमकद बुद्ध प्रतिमा, हाथी और लक्ष्मी की 9-10वीं सदी की खंडित प्रतिमा, 9-10वीं सदी की खंडित प्रतिमा आदि है. लकड़ी से बने पानी के जहाज को तत्कालीन पीवीसी बिग्रेडियर सैयद अहमद अली ने भेंट किया था. इसके अलावा वन्य जीवों के रहन-सहन को भी दिखाया गया है.

आपके शहर से (अलीगढ़)

अलीगढ़
अलीगढ़

हैरान होते हैँ लोग संग्रहालय देख कर
संग्रहालय की दुर्लभ चीजें देखकर हर किसी की नजर नहीं हटती जो देखता है वो इन चीज़ों का दीवाना हो जाता है संग्रहालय में शिलालेख, स्तूप, खुदाई में मिले सदियों पुराने बर्तन, खिलौने भी अपना महत्व बयां कर रहे हैं.

संग्रहालय में संरक्षित
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी उमर पीरजादा बताते हैं किमूसा डाकरी संग्रहालय में सर सैयद अहमद खान द्वारा संग्रह शानदार है. इसके अलावा एटा जिले के जखेड़ा, अतरंजी खेड़ा में एएमयू के पुरातत्व विभाग ने खुदाई कराई थी. जहां मिट्टी के दुर्लभ बर्तन, खिलौने आदि मिले थे. उसे इसी संग्रहालय में संरक्षित किया गया है.

Tags: Aligarh Muslim University

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें