Home /News /uttar-pradesh /

Aligarh: नरेश के सामने दिव्यांगता रोज टेकती है घुटने, जानें पूरी कहानी और देखें Video

Aligarh: नरेश के सामने दिव्यांगता रोज टेकती है घुटने, जानें पूरी कहानी और देखें Video

नाम तो नरेश है ही, दिल भी राजाओं वाला है.

नाम तो नरेश है ही, दिल भी राजाओं वाला है.

will power : अलीगढ़ के अतरौली के लोधा नगला में रहने वाले नरेश जीवटता की मिसाल हैं. वे एक पैर से पूरी तरह दिव्यांग हैं, लेकिन अपने एक पांव से ही साइकिल पर फर्राटा भरते हैं. उनकी साइकिल की रफ्तार और संतुलन साधने का कौशल देखने वालों को चकित कर देता है.

अधिक पढ़ें ...

अलीगढ़. तू जिंदा है तो जिंदगी की जीत में यकीन कर, अगर कहीं है स्वर्ग तो उतार ला जमीन पर. गीतकार शैलेंद्र की लिखी ये पंक्तियां बिल्कुल सटीक बैठती हैं अलीगढ़ के नरेश पर. नरेश ने विषम परिस्थितियों से टकराकर खुद के लिए रास्ता बनाया है.

दरअसल, अलीगढ़ के अतरौली के लोधा नगला में रहने वाले नरेश जीवटता की मिसाल हैं. वे एक पैर से पूरी तरह दिव्यांग हैं, लेकिन अपने एक पांव से ही साइकिल पर फर्राटा भरते हैं. उनकी साइकिल की रफ्तार और संतुलन साधने का कौशल देखने वालों को चकित कर देता है. रामघाट रोड पर उन्हें साइकिल चलाते देखा जा सकता है. वे तालानगरी की एक फैक्ट्री में काम करते हैं. इसके लिए नरेश रोजाना 40 किलोमीटर साइकल चलाकर आना-जाना करते हैं. यह सही है कि नरेश ने संघर्ष का रास्ता चुना है, पर समाज और सरकार का यह नैतिक दायित्व है कि उनके इस संघर्ष को समुचित साधन दिलाकर आसान बनाया जाए.

देखें नरेश के संघर्ष का वीडियो

नरेश एक पांव होने के बावजूद आत्मनिर्भर हैं. कहीं भी जाना होता है, तो वह साइकिल पर चढ़कर हवा से बातें करते हैं. नरेश एक फैक्ट्री में मजदूरी करते हैं और रोज अतरौली से 20 किलोमीटर दूर का सफर साइकिल से तय करते हैं. साइकिल के पैडल मारने के लिए डंडे का सहारा लेते हैं. इन्हें रोड पर साइकिल चलाते देख लोगों दांतों तले अंगुली दबा लेते हैं. नरेश बचपन से दिव्यांग नहीं हैं. ट्रेन दुर्घटना में उन्हें अपना एक पांव गंवाना पड़ा. लेकिन जिंदगी में उन्होंने कभी हार नहीं मानी. निश्चित ही नरेश से लोगों को प्रेरणा मिलती है.

एक पैर से दिव्यांग होने के बावजूद नरेश परिवार पर बोझ नहीं हैं. वे बताते हैं कि ट्रेन हादसे में रेलवे से जो आर्थिक मदद मिली थी वह इलाज में खर्च हो गई. नरेश अब मेहनत मजदूरी करके अपनी जीविका चला रहे हैं. उनकी एक हसरत है कि कोई सरकारी नौकरी मिल जाए तो उनका भला हो जाएगा.

Tags: Aligarh news, Cycle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर