Home /News /uttar-pradesh /

अलीगढ़:-नुमाइश में आकर्षण का केंद्र बना लगा 400 किलो का 10 फीट ऊंचा ताला

अलीगढ़:-नुमाइश में आकर्षण का केंद्र बना लगा 400 किलो का 10 फीट ऊंचा ताला

ताला

ताला कारीगर ने कड़ी मेहनत के साथ 3 महीने में तैयार किया 400 किलो का ताला

अलीगढ़ के ज्वालापुरी, नौरंगाबाद निवासी ताला कारीगर सत्यप्रकाश शर्मा और उनकी पत्नी रूक्मणी शर्मा ने 3 महीने की कड़ी मेहनत से एक ऐसा ताला बनाया है जिसे वे दुनिया का सबसे बड़ा ताला होने का दावा कर हैं. नुमाइश के उद्योग मंडप में इस बार 30 किलो की चाबी के साथ 400 किलो का विशालकाय ताला तैयार किया है.जिसकी ऊंचाई 10 फीट है.

अधिक पढ़ें ...

    अलीगढ़ के ज्वालापुरी, नौरंगाबाद निवासी ताला कारीगर सत्यप्रकाश शर्मा और उनकी पत्नी रूक्मणी शर्मा ने 3 महीने की कड़ी मेहनत से एक ऐसा ताला बनाया है जिसे वे दुनिया का सबसे बड़ा ताला होने का दावा कर हैं. नुमाइश के उद्योग मंडप में इस बार 30 किलो की चाबी के साथ 400 किलो का विशालकाय ताला तैयार किया है.जिसकी ऊंचाई 10 फीट है.नुमाइश में इस ताले को दिखाने के लिए उचित स्थान दिया गया है.साथ ही लोग भी बड़ी उत्सुकता के साथ ताला देखने पहुंच रहे हैं.

    अलीगढ़ को तालों का शहर भी कहा जाता है इसी तालानगरी अलीगढ़ के ज्वालापुरी, नौरंगाबाद निवासी सत्यप्रकाश ने एक ऐसा ताला बनाया है कि वह आदमी के दोगुने कद के बराबर है.ताला बनाने वाले कारीगर सत्यप्रकाश शर्मा ने बताया कि ताला इतना बड़ा है कि शायद भारत में ऐसा कोई ताला हो. ताले की चाबी का वजन भी 30 किलो है.

    ताला का वजन- 4 कुंतल यानी 400 किलो
    ताला की उंचाई- 10 फीट
    ताला की चौड़ाई- 9.5 इंच
    ताला में लीवर- 6 इंच

    ताला बनाने में लगभग 1 लाख रुपए की लागत लग चुकी है, सत्यप्रकाश शर्मा ने बताया कि ताले को उद्योग मंडप में अंदर रखा गया है.उसे बाहर उचित स्थान पर पूरा डिस्प्ले किया जा रहा है.
    सत्य प्रकाश शर्मा के पिता भोजराज शर्मा अपने समय के नामी ताला कारीगर थे. उन्होंने भी अपने समय में 40 किलोग्राम का ताला बनाया था इस तरह के 2 ताले तैयार किए थे एक ताला कोलकाता में है और दूसरा ताला अलीगढ़ में है.

    Tags: Aligarh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर