होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अलीगढ़:-हरदुआगंज विद्युत उत्पाद में मात्र 4 दिन का बचा है कोयला,नहीं सुधरे हालात तो पश्चिमी यूपी में छा जाएगा अंधेरा

अलीगढ़:-हरदुआगंज विद्युत उत्पाद में मात्र 4 दिन का बचा है कोयला,नहीं सुधरे हालात तो पश्चिमी यूपी में छा जाएगा अंधेरा

अलीगढ़:- प्रदेश के चार प्रमुख उत्पादन प्लांटों पर 2 से 4 दिन तक का ही कोयला बचा हुआ है.अनपरा, ओबरा, पारिक्षा और हरदुआगं ...अधिक पढ़ें

    अलीगढ़:-प्रदेश के चार प्रमुख उत्पादन प्लांटों पर 2 से 4 दिन तक का ही कोयला बचा हुआ है.अनपरा, ओबरा, पारिक्षा और हरदुआगंज विद्युत उत्पादन प्लांटों पर मात्र 2 से 4 दिन का ही कोयला शेष है.जबकि बिजली की मांग 23538 मेगा वाट तक पहुंचने की वजह से विद्युत आपूर्ति प्रभावित हो रही है.शहरी इलाकों में इस स्थिति में कुछ सुधार हुआ है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली का संकट अभी भी बना हुआ है.660 मेगावाट क्षमता के ललितपुर पावर प्लांट की इकाई को विद्युत उत्पादन के लिए शुरू कर दिया गया है.इसके साथ ही अन्य इकाइयों को भी जल्द ही शुरू करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.

    इस परेशानी से निपटने के लिए उत्तर पावर कॉर्पोरेशन प्रबंधन ने 2000 मेगा वाट की अतिरिक्त बिजली खरीदी है.इसके बावजूद भी बिजली की उपलब्धता और मांग में 2000 मेगा वाट का अंतर है.विद्युत विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अनपरा विद्युत उत्पादन प्लांट को पूरी क्षमता के साथ चलाने के लिए लगभग 40,000 मेट्रिक टन कोयले की आवश्यकता पड़ेगी.जबकि इनके पास मात्र 31,000 मेट्रिक टन कोयला ही उपलब्ध है और यही हरदुआगंज पावर प्लांट को 19,000 मेट्रिक टन कोयले की आवश्यकता है.जबकि यहां पर मात्र 11,500 मेट्रिक टन कोयला ही उपलब्ध है.इससे मतलब साफ है कि हरदुआगंज पावर प्लांट पर मात्र 4 दिन का कोयला शेष है.

    उप महाप्रबंधक पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड अनिल अरोड़ा ने बताया कि पीछे से कोयले की शॉर्टेज होने की वजह से बिजली के प्रोडक्शन में कमी आई है.पहले की अपेक्षा में बिजली सही आ रही है.प्रयास जारी है आने वाले कुछ दिनों में बिजली की समस्या से निजात मिल जाएगी.

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें