होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अलीगढ़:-रूस के हमले से यूक्रेन में फंसी अलीगढ़ की दो बेटियां पहुंची अपने घर

अलीगढ़:-रूस के हमले से यूक्रेन में फंसी अलीगढ़ की दो बेटियां पहुंची अपने घर

अलीगढ़:–अलीगढ़ की दो बेटियां फाल्गुनी धीरज और माधवी अरोरा अपने घर पहुंची.अलीगढ़ की यह दोनों बेटियां यूक्रेन में एमबीबीए ...अधिक पढ़ें

    अलीगढ़:–अलीगढ़ की दो बेटियां फाल्गुनी धीरज और माधवी अरोरा अपने घर पहुंची.अलीगढ़ की यह दोनों बेटियां यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही हैं.दोनों बेटियों को सकुशल देख परिवार की आंखों में खुशी के आंसू आ गए.फाल्गुनी की मां काजल धीरज और पिता पंकज धीरज व बहन हिमाद्री दिल्ली एयरपोर्ट पर उन्हें लेने पहुंचे.जब उन्होंने अपनी बेटी को दिल्ली एयरपोर्ट पर देखा तो उन्हें झट से गले लगा लिया.फाल्गुनी धीरज और माधवी अरोरा के परिवारजनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया.उन्होंने कहा कि उनके प्रयास से ही हमारे बच्चे घर वापस आ पाए हैं.

    अलीगढ़ जिले के लगभग 45 छात्र-छात्राएं यूक्रेन में एमबीबीएस कर रहे हैं.जिनको अलग-अलग उड़ानों से भारत वापस लाया जा रहा है. फाल्गुनी का कहना है कि बेटियों को प्राथमिकता दी जा रही है.उसी के आधार पर उनको हवाई जहाज में बिठाया जा रहा है.फाल्गुनी ने ऑपरेशन गंगा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहा. फाल्गुनी ने बताया कि वह फ्रेंकविस्क नेशनल मेडिकल विश्वविद्यालय से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही है.फाल्गुनी धीरज ने बताया कि वह यूक्रेन में भयानक मंजर देख कर लौटी है.

    दोनों बेटियां अपने वतन वापसी पर बेहद खुश हैं.उन्होंने बताया कि 48 घंटे का सफर तय करने के बाद वह यहां पहुंची हैं.इस बीच लंबा जाम और हवाई यात्रा में हम लोगोंको डर भी था.सीमा पर माइनस 7 डिग्री तापमान था.उनका कहना है कि ऑक्सीजन की कमी की वजह से नाक, मुंह में से खून निकलते हुए वह रोमानिया तक पहुंची. रोमानिया के बुखारेस्ट एयरपोर्ट से दिल्ली अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट तक का सफर तय किया.उन्होंने बताया की बहुत ही तकलीफों के बाद अपने वतन वापस आ पाई हैं.फाल्गुनी धीरज ने यहां आकर सबसे पहले खेरेश्वर मंदिर में भगवान शिव की पूजा की और सभी भारतीय विद्यार्थियों की कुशलतापूर्वक भारत वापस लौटने की प्रार्थना की. उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऑपरेशन गंगा के प्रयास से सही सलामत अपने घर आ पाई हैं.

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    इधर माधवी अरोड़ा का कहना है कि उन्होंने दिल्ली एयरपोर्ट पर आकर ईश्वर को धन्यवाद किया और चैन की सांस ली.उन्होंने कहा कि वह अपनी यह खुशी शब्दों में बयां नहीं कर सकती.उनका घर अलीगढ़ स्थित ग्रीन अपार्टमेंट में है.जब वहां पहुंची तो उनकी मां की आंखों में खुशी के आंसू छलक गए.माधवी के परिजन काफी मायूस थे अपनी बेटी को देखकर चैन की सांस ली.माधवी ने बताया की यूक्रेन में जहां वह रहती हैं वहां तनाव की स्थिति नहीं थी कुछ धमाकों की आवाज तो सुनाई पड़ती थी लेकिन आस-पास ज्यादा खतरा नहीं था लेकिन डर का माहौल था.उनके पिता पुनीत अरोड़ा ने अपनी बेटी के घर वापस आने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया.

    Tags: Aligarh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें