अलीगढ़ के मुफ्ती ने कहा, मस्जिदों में लॉकडाउन की तरह ही जारी रहेगा प्रतिबंध
Aligarh News in Hindi

अलीगढ़ के मुफ्ती ने कहा, मस्जिदों में लॉकडाउन की तरह ही जारी रहेगा प्रतिबंध
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

अलीगढ़ के मुख्य मुफ्ती खालिद हमीद (chief mufti Khalid Hamid) ने रविवार को जारी एक बयान में कहा मौजूदा हालात में मस्जिदों में जुमे की नमाज समेत बाजमात पढ़ी जाने वाली तमाम नमाजों पर पहले की ही तरह पाबंदियां लागू रहेंगी. इसमें किसी तरह के संदेह की कोई गुंजाइश नहीं है.

  • Share this:
अलीगढ़. धार्मिक स्थलों (Religious Place) को खोलने के सरकार के निर्देश के बावजूद अलीगढ़ (Aligarh) के मुख्य मुफ्ती ने कहा है कि जुमे की नमाज समेत जमात के साथ पढ़ी जाने वाली तमाम नमाजों पर लॉकडाउन (Lockdown) के दौर की तरह ही प्रतिबंध जारी रहेगा.

मुख्य मुफ्ती खालिद हमीद (chief mufti Khalid Hamid) ने रविवार को जारी एक बयान में कहा मौजूदा हालात में मस्जिदों में जुमे की नमाज समेत बाजमात पढ़ी जाने वाली तमाम नमाजों पर पहले की ही तरह पाबंदियां लागू रहेंगी. इसमें किसी तरह के संदेह की कोई गुंजाइश नहीं है.

मुफ्ती ने मुस्लिम समाज को आगाह किया कि वह लॉकडाउन खोलने के सरकार के फैसले को लेकर कोई खुशफहमी न पालें. सरकार ने धार्मिक स्थलों को खोलने का आदेश दिया है लेकिन उसमें भी एक समय में मस्जिद के अंदर पांच से ज्यादा लोगों के जमा होने की मनाही है. उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि कमोबेश पहले की ही तरह पाबंदियां लागू रहेंगी.



दिल्ली में नमाज़ियों के लिए खोल दी गई जामा मस्जिद
वैसे, आज से दिल्ली में धार्मिक स्थल खुल गए हैं। दिल्ली की मशहूर जामा मस्जिद (JAMA Masjid) भी आज आम नमाज़ियों के लिए खोल दी गई। करीब ढाई महीने बाद आज ज़ुहर की नमाज़ आम लोगों ने मस्जिद में अदा की। ज़ुहर की नमाज़ के बाद कोरोना से मरने वालों के लिए गायबाना नमाज़-ए-जनाज़ा अदा की गई। मस्जिद के गेट पर मौजूद पुलिस ने थर्मल सक्रीनिंग की। नमाज़ के दौरान सोशल डिस्टेंसिग का भी ख्याल रखा गया। मस्जिद के वुज़ू खाने को बंद किया गया है।

आम नमाज़ी तीन वक़्त की नमाज़ अदा कर सकेंगे

साथ नमाज़ियों से कहा गया है कि वो घर से वुज़ू करके आएं और नमाज़ के लिए जानमाज (कपड़ा) अपने घर से लाएं। यूं तो मस्जिद में नमाज़ पांचों की वक़्त होगी, लेकिन आम नमाज़ी तीन वक़्त की नमाज़ अदा कर सकेंगे। कर्फ्यू की वजह से आम नमाज़ी सुबह और रात की नमाज़ अदा नहीं कर सकेंगे। इससे पहले प्रदेश सरकार और गृह मंत्रालय (Home Ministry) की ओर से भी मस्जिदों में नमाज़ (Namaz) अदा करने के लिए बनाई गाइडलाइंस दो दिन से सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही थी. कुछ सरकारी और कुछ मस्जिद (Masjid) इंतज़ामिया कमेटी के नियमों को जोड़ने के बाद यह गाइडलाइंस तैयार की गई हैं. कई मजहबी संगठनों ने भी इसमें अपने सुझाव दिए हैं.

इन्हें भी पढ़ें : 

गोरखपुर में मुस्लिम पार्षद ने पेश की मिसाल, 'सैनेटाइज मशीन' उठाकर पहुंचे मंदिर

UP में Unlock 1.0 के साइड इफेक्ट: ढील मिलते ही सड़कों पर लगा भीषण जाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading