होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /AMU में फिर गूंजा- 'नारे तकबीर' और 'अल्लाह-हू-अकबर' का नारा, छात्रों ने किया प्रदर्शन

AMU में फिर गूंजा- 'नारे तकबीर' और 'अल्लाह-हू-अकबर' का नारा, छात्रों ने किया प्रदर्शन

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों का कहना था कि धार्मिक नारेबाजी दोनों तरफ से हुई थी. जो धार्मिक नारे लगाए गए हैं ...अधिक पढ़ें

    वसीम अहमद

    अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय यानी एएमयू में नमाज के बाद छात्रों ने नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया. छात्रों ने अल्लाह-हू-अकबर, नारे तकबीर, तेरा मेरा रिश्ता क्या, ला इलाहा इलल्लाह के नारे लगाये. छात्र गणतंत्र दिवस के दिन एएमयू के एक छात्र वाहिदुज्जमा के द्वारा एनसीसी कैडेट में धार्मिक नारे लगाने के बाद उसको निलंबित किए जाने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे. छात्रों की मांग थी कि निलंबित छात्र को बहाल किया जाए. छात्रों ने इससे संबंधित एक ज्ञापन भी दिया. ज्ञापन में छात्रों ने बीबीसी की डॉक्युमेंट्री को भी सही बताया. छात्रों ने इस दौरान मीडिया को कोई बयान नहीं दिया.

    बता दें कि, 26 जनवरी के दिन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के दौरान धार्मिक नारे लगाये गये थे. इसको लगाने वाले एक छात्र को विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा निलंबित कर दिया गया था. उसके बाद, पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की थी. छात्र का एनसीसी कैडेट की ड्रेस में अल्लाह-हू-अकबर, तकबीर के नारे लगाते हुए वीडियो वायरल हुआ था. हालांकि, बाद में कई और वीडियो वायरल हुए थे जिसमें हिंदू छात्र भी धार्मिक नारे लगा रहे थे. उसी मुस्लिम छात्र के समर्थन में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में नमाज के बाद छात्रों ने जामा मस्जिद से लेकर बाबे सैयद गेट तक प्रदर्शन करते हुए मार्च निकाला.

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    छात्रों का कहना था कि धार्मिक नारेबाजी दोनों तरफ से हुई थी. जो धार्मिक नारे लगाए गए हैं उसमें एक पक्ष पर ही कार्रवाई की गई है. जबकि, दूसरे छात्रों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई. या तो जिस छात्र पर कार्रवाई की गई है, उसका निलंबन भी निरस्त (रद्द) किया जाए, अन्यथा और कुछ कार्रवाई के लिए बाध्य होंगे.

    छात्र को बहाल करने के लिए लिखित में ज्ञापन

    एएमयू के प्रॉक्टर मोहम्मद वसीम अली ने न्यूज़ 18 लोकल को बताया कि लड़कों ने हमको लिखित में ज्ञापन दिया है जिसमें उन्होंने कहा है कि 26 जनवरी के संदर्भ में एक लड़का वाहिदुज्जमा को निलंबित किया गया है. उनके हिसाब से यह निलंबन ठीक नहीं है. गलत हुआ है. साथ ही, उन्होंने मांग की है कि इस को जल्द से जल्द वापस लिया जाए.

    इस ज्ञापन के जरिए लड़कों ने यह डिमांड की है कि 26 जनवरी को कुछ लड़कों ने स्लॉगन लगाए थे. प्रोग्राम खत्म होने के बाद में उसके बुनियाद पर कुछ एक्शन हुए थे. उसी एक्शन के विरुद्ध इसमें लड़कों ने यह कहा है कि यह एक्शन गलत हुआ है. इनका कोई केस नहीं बनता.

    Tags: Aligarh news, AMU, Up news in hindi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें