Home /News /uttar-pradesh /

AMU: महिला डॉक्टरों ने छत में बने खाली जगह से वीडियो बनाने का लगाया आरोप

AMU: महिला डॉक्टरों ने छत में बने खाली जगह से वीडियो बनाने का लगाया आरोप

इस मामले पर सभी महिला डॉक्टरों ने लिखित में AMU की हायर अथॉरिटी को शिकायत दर्ज कराई है. इस पर एक चार सदस्यीय कमेटी मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने बना दी है जो पूरे मामले पर पांच दिन में रिपोर्ट देगी. प्रशासन ने तख्ती लगा कर उस जगह को बंद भी कर दिया.

अधिक पढ़ें ...
    अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय एक बार फिर विवादों में है और इस बार विवाद की वजह है तीसरी आंख यानी मोबाइल कैमरा. कोई शख्स मोबाइल कैमरे से ड्रेसिंग रूम के ऊपर बनी खाली जगह से AMU के मेडिकल कॉलेज की महिला डॉक्टरों का विडियो बना रहा था. वह चोरी-चोरी महिला डॉक्टरों के कपड़े बदलते समय का वीडियो बना रहा था.

    इस मामले पर सभी महिला डॉक्टरों ने लिखित में AMU की हायर अथॉरिटी को शिकायत दर्ज कराई है. इस पर एक चार सदस्यीय कमेटी मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने बना दी है जो पूरे मामले पर पांच दिन में रिपोर्ट देगी. प्रशासन ने तख्ती लगा कर उस जगह को बंद भी कर दिया. यहां सवाल उठता है कि AMU के मेडिकल कॉलेज प्रशासन की लापरवाही की वजह से कितनी महिला डॉक्टरों की अस्मत दांव पर लग चुकी होगी?

    इस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के मेडिकल कॉलेज में महिला डॉक्टरों ने जमकर हंगामा किया. उन्होंने ऑपरेशन थिएटर के पास बने चेंजिंग रूम की छत में मौजूद ख़ाली जगह से मोबाइल फ़ोन से विडियो बनाए जाने का आरोप लगाया. मामला सामने आने के बाद हॉस्पीटल एडमिनिस्ट्रेशन ने चार डॉक्टरों की एक कमिटी बनाई जो पांच दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. महिला डॉक्टरों के आरोप लगाए जाने के बाद उस ख़ाली जगह को कार्ड बोर्ड के ज़रिये बन्द करा दिया.

    हालांकि महिला डॉक्टरों का विडियो कौन बना रहा था इसका पता नहीं चल सका. कितने समय से ये वीडियो बनाए जा रहे थे ये सब जांच के बाद पता चल पायेगा लेकिन इस खुलासे से मेडिकल कॉलेज में हड़कंप मचा हुआ है और महिला डॉक्टरों को डर है कि कपड़े बदलते समय कहीं उनका वीडियो न बन गया हो.

    महिला डॉक्टरों ने रेज़ीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन में लिखित शिकायत दर्ज कराई. महिला डॉक्टरों ने दावा किया कि हॉस्पिटल में ऑपरेशन थिएटर के पास बने चेंजिंग रूम की छत में एक ख़ाली जगह बनी हुई है और उसके ऊपर कैंटीन है. महिला डॉक्टरों का आरोप है कि उसी ख़ाली जगह से उनका विडियो बनाने की कोशिश की गई.

    ये भी पढ़ें - 

    अब आप को समझाते हैं कि पूरा मामला क्या है. दरअसल अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज की महिला डॉक्टरों के लिए एक छोटी सी जगह पर ड्रेसिंग रूम बना हुआ है. इस रूम में काफी समय से महिला डॉक्टर बाहर से आकर अपनी ड्रेस चेंज करती थी और फिर अपने अपने विभागों में जाती थीं. जैसे किसी महिला डॉक्टर को ऑपरेशन थिएटर में जाना है तो वो ओटी ड्रेस पहनतीं थीं, उसके बाद ओटी रूम में जाती थी.

    इस ड्रेसिंग रूम में ठीक ऊपर छत पर एक हिस्सा खुला हुआ था जिसे छतरी नुमा कवर किया गया था और उसमें सभी तरफ शीशे लगाए गए थे. इसकी वजह यह हो सकता है कि नीचे कमरे में प्रकाश आता रहे, लेकिन अब वहां शीशा काफी समय से नहीं था. यह जो छतरी नुमा जगह बनी हुई थी वहां कई साल से कैंटीन बनी हुई है, जहां डॉक्टर और अन्य स्टाफ आकर जलपान इत्यादि करते हैं. कोई शख्स काफी समय से इसी छतरी नुमा जगह से नीचे ड्रेसिंग रूम में कपड़े बदल रही महिला डॉक्टरों की क्लिपिंग बना रहा था.

    मामले का खुलासा तब हुआ जब परसों एक महिला डॉक्टर कपड़े बदल रही थी. उसकी निगाह अकस्मात ही ऊपर की ओर गई तो उसने देखा कि कोई हाथ में पीला मोबाइल लेकर उस छतरीनुमा जगह से वीडियो बना रहा था. वह महिला डॉक्टर चीख पड़ी और उसने ये बात अपने साथियों को बताई. सभी लोगों ने जाकर ऊपर देखा तो वहां पीला मोबाइल रखने वाला कोई व्यक्ति नहीं मिला. हो सकता है कि वह शख्स चीख सुन वहां से फरार हो गया हो.

    महिला डॉक्टरों ने इस मामले की लिखित शिकायत तत्काल मेडिकल कॉलेज प्रशासन सहित AMU  प्रशासन को भी दी. महिला डॉक्टरों का कहना था कि ना जाने कितने समय से हम सबकी  वीडियो बनाई जा रही होगी. तत्काल उन लोगों को पकड़ा जाए और उनके पास जो भी इससे सम्बंधित डाटा है वे सब डिलीट किए जाएं.

    महिला डॉक्टरों के अंदर अब एक अजीब सा भय है कि ना जाने किस-किस का कपड़े बदलते समय का वीडियो बनाया गया होगा और सोशल साइट्स पर शेयर किया गया होगा. साथ ही महिला डॉक्टरों ने बताया कि उनका ड्रेसिंग रूम ऊपर से खुला हुआ है और पास ही मेल ड्रेसिंग रूम भी है.

    इस मामले पर मेडिकल कॉलेज के मेडिकल सुपरिटेंडेंट हारिश मंसूर का कहना है कि वो जगह 1962 की बनी हुई है जिसमें एग्ज़ॉस्ट बने हुए थे, वहां अब कैंटीन बनी हुई है. उस एग्ज़ॉस्ट को काट कर टेबल बना दिया गया था. ऊपर कैंटीन थी और नीचे ड्रेसिंग रूम था. उस एग्ज़ॉस्ट वाली जगह पर शीशे लगे हुए थे.

    बीते शनिवार को कोई महिला ट्रेनी वहां कपड़े चेंज कर रही थी तो उसने किसी का मोबाइल वहां देखा. हमने जब वहां देखा तो कुछ मिला तो नहीं लेकिन हमने कैंटीन को बंद कर दिया है. उस जगह को प्लाई से बंद कर दिया गया है. हमने चार सदस्यीय कमेटी डॉ. काजी की अध्यक्षता में बना दी है जो पांच दिन में अपनी रिपोर्ट देंगे. उसके बाद हम इस पर कार्रवाई करेंगे. हम जल्द ही पुलिस में भी मामला दर्ज कराएंगे.

    मेडिकल कॉलेज से जुडी संस्था रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन भी उन महिला डॉक्टरों के समर्थन में खड़ी हो गई है. आरडीए के अध्यक्ष डॉ. अब्दुल्लाह ने कहा की ये बहुत दिनों से है. उन्होंने पूरे मामले में जांच कर जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

    Tags: Aligarh Muslim University, College education, University education

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर