Aligarh: मेरा मूड खराब है... बोलकर ANM ने टीका लगाने के बजाय कूड़ेदान में फेंक दी 29 लोडेड सिरिंज, जांच का आदेश

जमालपुर यूपीएचसी को लेकर मच रहा है बवाल.

जमालपुर यूपीएचसी को लेकर मच रहा है बवाल.

यूपी के अलीगढ़ के जमालपुर यूपीएचसी पर कूड़ेदान में कोविड टीकाकरण (Corona Vaccination) की 29 लोडेड सिरिंज मिलने से हड़कंप मचा हुआ है. आरोप है कि एएनएम नेहा खान ने मूड खराब होने की वजह से टीका लगाने के बजाय सिरिंज कूड़ेदान में फेंक दीं.

  • Share this:

अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, यहां जमालपुर यूपीएचसी पर कूड़ेदान में कोविड टीकाकरण (Corona Vaccination) की 29 लोडेड सिरिंज मिली हैं. आरोप है कि जमालपुर यूपीएचसी की एएनएम नेहा खान ने इन लोडेड सिरिंज को कूड़ेदान में फेंका है. इस बात की गवाही नेहा खान के साथ का स्टाफ दे रहा है, तो वहीं, एएनएम नेहा खान ने इस पूरे मामले को उनके खिलाफ साजिश करार दिया है.

फिलहाल कोविड टीकाकरण की इन लोडेड सिरिंज के कूड़े में मिलने के मामले की जांच अलीगढ़ के सीएमओ ने 2 सदस्यीय कमेटी गठित कर एसीएमओ डॉक्टर एमके माथुर व डिप्टी सीएमओ दुर्गेश कुमार को सौंप दी है. साथ ही यह जानकारी की जा रही है कि आखिर यह लोडेड सिरिंज स्टाफ की एएनएम नेहा खान द्वारा या किसी अन्य कर्मी ने कूड़ेदान में फेंकी हैं.

अलीगढ़ के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के स्वास्थ्य केंद्र का मामला

दरअसल अलीगढ़ के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के जमालपुर स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कल 18 से 44 वर्ष के लोगों को कोविड का टीका लग रहा था. वहां एएनएम नेहा खान लोगों का टीकाकरण कर रही थी. स्वास्थ्य केंद्र के अन्य स्टाफ का आरोप है कि नेहा खान टीकाकरण करने के लोडेड सिरिंज की पिन तोड़कर कूड़े में फेंक रही थी. इस बात को लेकर जब स्टाफ ने उनसे कुछ कहा तो उन्होंने कहा कि मेरा मूड खराब है और इसके बाद वहां से हट गई. इस तरह वहां 29 लोडेड सिरिंज कूड़ेदान में मिली हैं. मामला जब सीएमओ कार्यालय पहुंचा तो हड़कंप मच गया.
एएनएम नेहा खान के साथ स्टाफ की दूसरी एएनएम अनु ने बताया कि वहां वैक्सीनेशन हो रहा था. मैं रजिस्टर पर एंट्री करवा रही थी. उस समय वह टीका लगा रही थी. इस दौरान एक पेशेंट ने उनको टोका कि आप क्या कर रही हैं. यह कैसे आप टीका लगा रहे हैं और उसने दोबारा लगवाया. मैंने देखा तो नेहा से कहा कि तुम सही नहीं कर रही हो तो उसने टेंशन होने की बात कही. अनु के मुताबिक, केंद्र पर 10 से 12 लोग का स्टाफ है. वहां मैं भी थी और अन्य लोग भी थे. यह तो वही जाने कि वह क्या सोचकर यह कर रही थी. जब हमने उसको इस बारे में बताया तो वह उल्टा ही हमारे ऊपर आरोप लगाने लगे.

नेहा खान ने दी सफाई

मामले पर अपनी सफाई देते हुए एएनएम नेहा खान ने बताया कि मैं 10:15 बजे ड्यूटी करने आई थी. मैंने 10 से 15 वैक्सीनेशन किए थे और उसके बाद में कंप्यूटर पर बैठ गई. 3 बजे खाना खाने चली गई और जब मैं लौटकर तब तक कोई बात नहीं थी. इसके बाद मैं 4:30 बजे घर चली गई तो उसके बाद 6:30 बजे खबर मेरे पास आई कि ऐसे ऐसे हुआ है. कूड़े में सिरिंज मिली है. मेरे द्वारा 15 लोगों को टीकाकरण किया गया था. मेरे साथ षड्यंत्र रचा जा रहा है.



वहीं इस मामले पर अलीगढ़ के सीएमओ डॉ. भानु प्रताप कल्याणी ने बताया कि जमालपुर स्वास्थ्य केंद्र में किसी एएनएम द्वारा इंजेक्शन लोड करके ना लगाने की शिकायत मिली है, जो इंजेक्शन खराब किए गए हैं. शायद कुछ लोगों को वैक्सीन ना लगी हो. इसमें हम लोगों ने दो एसीएमओ स्तर के अधिकारी के इंक्वायरी कमेटी बना दी है और कहा गया है कि इंक्वायरी जल्दी से जल्दी करके दें. उसके बाद नेहा खान के खिलाफ एक्‍शन लिया जाएगा. यह जमालपुर का मामला है और शनिवार को संज्ञान में आया था. जबकि सोमवार को हमने कमेटी बनाकर जांच के आदेश दिए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज