Home /News /uttar-pradesh /

ओवैसी ने​ फिर दिया ये विवादित बयान, इस बार लिया जल्लीकट्टु का सहारा

ओवैसी ने​ फिर दिया ये विवादित बयान, इस बार लिया जल्लीकट्टु का सहारा

एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है.

एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है.

एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है.

एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है. उन्होंने जल्लीकट्टु मामले में तमिलनाडु की जनता की मिसाल देते हुए कहा कि जनता ने अपनी संस्कृति को बचाने के लिए तमिलनाडु को बंद कर दिया. उसी तरह मुसलमानों को अपनी इज्जत और सम्मान बचाना है तो ऐसे ही शक्ति का प्रदर्शन करें.

ओवैसी अलीगढ़ में पार्टी के प्रत्याशी की चुनावी सभा को सम्बोधित करने आये थे. ओवैसी ने कहा कि अब अपनों का साथ दें, मुसलमानों ने 65 साल दूसरों पर भरोसा किया, अब अपनों पर भरोसा करे मुसलमान.

उन्होंने एएमयू के अल्पसंख्यक स्वरूप बहाल कराने के लिए संघर्ष की बात करते हुए कहा कि इस्लामिक मुल्क के नेता का प्रधानमंत्री इस्तेकबाल झुककर कर रहे हैं. इसके बावजूद कि उनके दाढ़ी है तो फिर अपने मुल्क के दाढ़ी वालों से मोदी को नफरत क्यों है.

'अखिलेश और मोदी छोटे मियां, बड़े मियां'

ओवैसी ने कहा की जो लोग हमें ये बता रहे हैं कि हम निकाह कैसे करें, तलाक कैसे दें, उनको मालूम होना चाहिए कि ये हमारी हजारों साल पुरानी संस्कृति है. जैसे तमिलनाडु के लोगों ने अपनी संस्कृति की हिफाजत की है, हम भी करेंगे.
नोटेबंदी पर ओवैसी ने कहा कि गरीबों को चोट पहुंचाई गई है.

अखिलेश और मोदी छोटे मियां, बड़े मियां हैं. दोनों विकास की बात कर रहे हैं, लेकिन दोनों ने विनाश किया है. अखिलेश ने 2012 में कहा था कि कोई दंगा नहीं होगा लेकिन मुजफ्फरनगर में दंगा हुआ. 2012 में वादा किया था कि बेगुनाह जेल में बंद मुस्लिम युवकों को छोड़ा जाएगा, लेकिन नहीं छोड़ा गया. पांच सालों में केवल यादवों का विकास हुआ.

उन्होंने कहा कि अखिलेश पहले अपने बाप के हो जाएं, फिर गरीबों के होने की बात करें. ओवैसी ने सपा के नए घोषणापत्र में स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को घी देने वाले वायदे का मजाक उड़ाते हुए कहा कि कौन सी भैंस के दूध का घी देंगे. नेता जी की एक भैंस तो बाहर भाग चुकी है. सपा कमजोरों को इंसाफ देने की बात करती है लेकिन यूपी के जेलों में सबसे ज्यादा दलित और मुस्लिम बंद हैं. सपा और भाजपा एक सिक्के के दो पहलू हैं.

Tags: Jallikattu, अलीगढ़

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर