लाइव टीवी

अलीगढ़ में CAA विरोध: प्रदर्शनकारी 150 लोगों से भराए गए बांड, धरने में हुआ बवाल तो उनकी जिम्मेदारी
Aligarh News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 4, 2020, 12:15 PM IST
अलीगढ़ में CAA विरोध: प्रदर्शनकारी 150 लोगों से भराए गए बांड, धरने में हुआ बवाल तो उनकी जिम्मेदारी
अलीगढ़ में सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन बढ़ता जा रहा है.

अलीगढ़ (Aligarh) के एसीएम द्वितीय रंजीत सिंह ने बताया कि 150 लोगों को पाबंद कर बॉन्ड भरवाया गया है. जिसमें साफ किया गया है यदि धरने पर किसी भी तरीके की कोई भी समस्या पैदा होती है तो उसके जिम्मेदार वह सभी लोग होंगे.

  • Share this:
अलीगढ़. सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के खिलाफ लेकर अलीगढ़ (Aligarh) के शाहजमाल में बड़ी संख्या में महिलाएं प्रदर्शन के लिए सड़कों पर उतर चुकी हैं. धरना स्थल पर लगातार महिलाओं की संख्या बढ़ती दिख रही है. उधर जिला प्रशासन ने धरना स्थल पर भारी संख्या में पुलिस फ़ोर्स तैनात कर दिया है. प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इन महिलाओं को समझाने का प्रयास नाकाम नजर आ रहा है. मामले में पुलिस ने करीब 600 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है, वहीं अब 150 लोगों को पाबंद कर बॉन्ड भरवाया गया है. इस बॉन्ड में साफ किया गया है कि यदि धरने पर किसी भी तरीके की कोई भी समस्या पैदा होती है तो उसके जिम्मेदार वह सभी लोग होंगे.

अलीगढ़ का ईदगाह शाहजमाल इनदिनों दिल्ली का शाहीनबाग बन चुका है. ईदगाह पर रोज प्रदर्शनकारी महिलाओं की संख्या तेजी से बढ़ रही है. धरना स्थल पर महिलाएं बच्चों को साथ लेकर बैठीं हैं. शाहजमाल ईदगाह के बाहर रोड जाम करके महिलायें सीएए और एनआरसी के विरोध में जमकर नारेबाजी कर रहीं हैं. पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी प्रदर्शनकारी महिलाओं को समझाने का प्रयास में जुटे हैं, लेकिन अधिकारियों के ये प्रयास कहीं ना कहीं नाकाम होते दिख रहे हैं.

धरना स्थल पर महिलाओं की बढ़ती संख्या ने जिला प्रशासन के सामने चुनौती खड़ी कर दी है. मौके पर आरएएफ, पीएसी और भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. पिछले 4 दिन से देखते ही देखते महिलाओं की संख्या में हज़ारों का इजाफा हुआ है. पुलिस ने बिना अनुमति के धरना शुरू करने के चलते महिलाओं के विरुद्ध मुकदमा भी दर्ज किया है. थाना देहली गेट इलाके के शाहजमाल ईदगाह पर 24 घंटे ज़िला प्रशासन पैनी नजर बनाए हुए है.

प्रशासन ने भारी फोर्स के साथ लगवाए मेटल डिटेक्टर

प्रभारी निरीक्षक सुनीता मिश्रा ने बताया कि महिलाओं को लगातार समझा जा रहा है लेकिन बावजूद उसके महिलाओं की भीड़ समझने का नाम नहीं ले रही है. धारा 144 होने के बावजूद लगातार महिलाओं का धरना प्रदर्शन जारी है. हम लेके रहेंगे आजादी जैसे नारों के साथ महिलाएं बच्चों को सड़कों पर लेकर बैठी हुई हैं, वहीं ईदगाह शाह जमाल रोड को पूरी तरीके से महिलाओं ने जाम कर दिया है. सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस ने मैटल डिटेक्टर और बैरिकेडिंग की है. धरने पर जो भी जाएगा उसे बैरिकेडिंग के बाद मेटल डिटेक्टर में होकर जाना होगा. जिससे यह पता चल सके कि कोई भी किसी भी तरीके का हथियार या अन्य नुकसान पहुंचाने वाला वस्तु तो नहीं लेकर जा रहा है.

aligarh protest
अलीगढ़ में प्रदर्शन लगातार जारी है.


एएमयू पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सहित 600 के खिलाफ एफआईआरएसपी सिटी अभिषेक कुमार ने बताया कि शाहजमाल ईदगाह इलाके में पिछले 4 दिन से बड़ी संख्या में महिलाएं धरने पर बैठी हैं. एएमयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व कश्मीरी छात्र सज्जाद सुब्हान राथर सहित यूनिवर्सिटी की दो छात्राएं व 500 से 600 की संख्या में अज्ञात लोगों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 145, 147, 188, 283 व 341 जैसी धाराओं में मुक़द्दमा पंजीकृत किया गया है. सज्जाद पर आरोप है कि वह यहां आकर पब्लिक को उकसाने का काम कर रहे थे.

अज्ञात महिलाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज
एसीएम द्वितीय रंजीत सिंह ने बताया कि 150 लोगों को पाबंद कर बॉन्ड भरवाया गया है. जिसमें साफ किया गया है यदि धरने पर किसी भी तरीके की कोई भी समस्या पैदा होती है तो उसके जिम्मेदार वह सभी लोग होंगे. उन्होंने कहा कि धारा 144 होने के बावजूद लगातार उल्लंघन किया जा रहा है. महिलाएं सरकार के विरोध में नारे भी लगा रही है, जिसे लेकर पुलिस ने अज्ञात महिलाओं के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया है.

ये भी पढ़ें:

UP में कोरोना वायरस का एक भी केस नहीं, संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटिव

संभल में अनोखी शादी, तिरंगा पगड़ी पहन दूल्हे ने दुल्हन को पहनाई तिरंगा वरमाला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 12:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर