AMU बवाल का CCTV फुटेज वायरल, बड़ा सवाल- क्या गेट तोड़ने वाले यूनिवर्सिटी के ही छात्र थे ?
Aligarh News in Hindi

AMU बवाल का CCTV फुटेज वायरल, बड़ा सवाल- क्या गेट तोड़ने वाले यूनिवर्सिटी के ही छात्र थे ?
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के बवाल का सीसीटीवी फुटेज वायरल

सवाल ये खड़ा होता है कि जिन छात्रों ने उपद्रव करने के लिए AMU की संपत्ति तक को तहस-नहस कर दिया वो अगर शहर की तरफ आ जाते और पुलिस उनको न रोकती तो वो क्या हाल करते लेकिन यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है जिन्होंने गेट तोड़ा था क्या वह AMU के ही छात्र थे ?....

  • Share this:
अलीगढ़. CAA और NRC के विरोध में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) में सैकड़ों युवाओं ने कैंपस से बाहर निकल कर हंगामा व पथराव किया था. अलीगढ़ पुलिस पर आरोप भी लगा था कि पुलिस ने AMU के मुख्य द्वार सैय्यद गेट को तोड़कर अंदर प्रवेश किया था लेकिन सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद कहानी कुछ और ही बयां हो रही है.

सीसीटीवी फुटेज से चेहरों की होगी पहचान
वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है क़ि सैकड़ों की तादाद में लड़के बाबे सैय्यद गेट की तरफ दौड़ते हुए बढ़ रहे हैं. हालांकि यूनिवर्सिटी के सुरक्षाकर्मियों ने गेट को बंद कर दिया था लेकिन उग्र लड़के गेट को हिला-हिला कर तोड़ देते हैं और उसके बाद बाहर निकलते हैं. बाहर निकलने के बाद ये जम कर बवाल करते हैं, जिसके बाद पुलिस एक्शन में आती है. गेट के बाहर छात्रों का बवाल मीडिया के कैमरे में भी कैद हुआ.

AMU, CAA PROTEST,CCTV
सीसीटीवी फुटेज में लड़के अंदर से AMU का गेट तोड़ते नजर आ रहे हैं.

यहां सवाल ये खड़ा होता है कि जिन छात्रों ने उपद्रव करने के लिए AMU की संपत्ति तक को तहस-नहस कर दिया वो अगर शहर की तरफ आ जाते और पुलिस उनको न रोकती तो वो क्या हाल करते लेकिन यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है जिन लड़कों ने गेट तोड़ा था क्या वह AMU के ही छात्र थे ?. AMU में पुलिसिया कार्र्यरवाई की चारों ओर छात्र निंदा कर रहे थे. अलीगढ़ पुलिस ने AMU प्रशासन की लिखित अनुमति के बाद कैंपस के अंदर प्रवेश किया था इसलिए छात्र नेता पुलिस के साथ-साथ AMU के वीसी और रजिस्ट्रार के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं. लेकिन ये वीडियो सामने आने के बाद मामले का रुख दूसरी तरफ घूम गया है. पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उपद्रवियों की पहचान कर रही है.



कुछ छात्रों ने पुलिसिया कार्रवाई का विरोध करते हुए उस दिन का वीडियो भी वायरल किया था. पूरे मामले में सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया ने बताया कि अब सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कार्रवाई की जा रही है. अलीगढ़ की पुलिस अधिकारी सुनीता मिश्र ने लोगों से अनुरोध किया है कि 'किसी के बहकावे में न आएं आप जो भी कार्य करते है संविधान के दायरे में करें.' साथ ही उन्होंने चेतावनी भी दी कि 'यदि कोई व्यक्ति गलत काम करता है या लोगों की भावनाओं को भड़काता है तो उसके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें- CAA Protest: इंटरनेट ठप होने के Side effects- मरीज, छात्र, आम आदमी हलकान, व्यापार में भी अरबों का घाटा...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज