अलीगढ़: सैलरी मांगने पहुंचा संविदा कर्मचारी, CMO ने बीवी- बच्चों सहित भेजा जेल

सैलरी मांगने पहुंचा संविदा कर्मचारी
सैलरी मांगने पहुंचा संविदा कर्मचारी

तीन माह पूरे हो जाने के बावजूद भी संविदा कर्मी चंद्रवीर को एक दिन का भी वेतन (Salary) नहीं दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 6:37 PM IST
  • Share this:
अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) जिले में एक संविदा कर्मी को वेतन मांगना भारी पड़ गया. उसे सैलरी तो नहीं मिली उलटा सीएमओ ने परिवार समेत जेल भेजवा दिया. दरअसल सीएमओ (CMO) कार्यालय में संविदा पर तैनात ऑपरेटर कर्मचारी ने सीएमओ से ऊंची आवाज में बात कर ली. इसके बाद सीएमओ ने कर्मचारी को उसके दो मासूम बच्चों और बीवी सहित 151 की धारा में डीएम कार्यालय से जेल भिजवा दिया.

मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय में संविदा पर तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर चंद्रवीर का विभाग में किसी से विवाद चल रहा था. इस विवाद की शिकायत मुख्य चिकित्सा अधिकारी भानु प्रताप सिंह से की गई.

जिसके बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा 1 जुलाई को ऑपरेटर चंद्रवीर सिंह की संविदा समाप्त कर दी. जिसके बाद चंद्रवीर सिंह उक्त प्रकरण की शिकायत लेकर जिलाधिकारी के पास पहुंचे जहां जिलाधिकारी ने चंद्रवीर को अपने कार्यालय में ड्यूटी करने को कहा. उसी दिन से लगातार चंद्रवीर जिलाधिकारी कार्यालय में नौकरी कर रहे थे. तीन माह पूरे हो जाने के बावजूद भी चंद्रवीर को एक दिन की भी वेतन नहीं दिया गया.



ये भी पढ़ें- UP: 11 साल बाद पाकिस्तान की जेल में मिला मिर्जापुर का पुनवासी, वतन वापसी की उम्मीद
जिसकी शिकायत चंद्रवीर सिंह सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय में की गई. तो सीडीओ के द्वारा चंद्रवीर सिंह से कार्यालय से अपने घर जाने का फरमान सुना दिया गया. जिसके बाद चंद्रवीर सिंह अपने दो मासूम बच्चों और बीवी सहित जिलाधिकारी से मिलने के लिए उनके कार्यालय पहुंचे. जहां पर सीएमओ के द्वारा चंद्रवीर सिंह व उनके बच्चों को एक गाड़ी में भरवा कर थाने भिजवा दिया. इस घटना के बाद कर्मचारियों में चर्चा बनी हुई है.

(रिपोर्ट- रंजीत सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज