BJP विधायक का विवादित बयान, कहा- कोरोना AMU के इस मेडिकल कॉलेज के कारण फैल रहा
Aligarh News in Hindi

BJP विधायक का विवादित बयान, कहा- कोरोना AMU के इस मेडिकल कॉलेज के कारण फैल रहा
बीजेपी नेता का यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

बीजेपी के एक विधायक ने अलीगढ़ (Aligarh) में कोविड-19 (Covid-19) फैलने के लिए जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज (Jawaharlal Nehru Medical College) को जिम्मेदार ठहराकर विवाद पैदा कर दिया है.

  • Share this:
अलीगढ़. भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के एक विधायक ने अलीगढ़ (Aligarh) में कोविड-19 (Covid-19) फैलने के लिए जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज (Jawaharlal Nehru Medical College) को जिम्मेदार ठहराकर विवाद पैदा कर दिया है. बीजेपी विधायक दलवीर सिंह ने आरोप लगाया है कि मेडिकल कालेज अस्पताल कोरोना वायरस का 'हब' बन गया है और अस्पताल ने कोविड-19के मरीजों के बारे में जिला प्रशासन को समय से अवगत नहीं कराया. उन्होंने उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से इसकी जांच कराने की मांग की है. बीजेपी नेता का यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

हैरत में है हॉस्पिटल के डॉक्टर
इस हॉस्पिटल के डॉक्टर विधायक के बयान से हैरत में हैं. उनका कहना है कि ऐसे समय में जब चिकित्सक चौबीसों घंटे अपने जीवन को दांव पर लगाकर काम कर रहे हैं, इस बयान से उन्हें पीड़ा पहुंची है. उनका यह भी कहना है कि विधायक के बयान से यदि किसी चिकित्सक को किसी अप्रिय घटना का सामना करना पड़ता है तो इसके लिए विधायक और जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा.

रेजीडेंट डाक्टर्स एसोसिएशन ने डीएम को लिखा पत्र
रेजीडेंट डाक्टर्स एसोसिएशन ने इस संबंध में जिलाधिकारी को पत्र लिखा है. एसोसिएशन के डा. हमजा मलिक ने कहा कि अस्पताल रोजाना लगभग ढ़ाई सौ मरीजों का मुफ्त परीक्षण कर रहा है. नोएडा, आगरा, एटा, हाथरस, कासगंज, रामपुर, संभल, मुरादाबाद और बुलंदशहर सहित सात से अधिक जिलों के मरीजों की जांच के लिए यह अग्रिम मोर्चे का विशेष कोरोना अस्पताल है. उक्त पत्र की प्रतियां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी भेजी गयी हैं.



माननीय विधायक को यह भी नहीं है पता!
डा. हमजा ने संवाददाताओं से कहा, 'माननीय विधायक को शायद जानकारी नहीं है कि अस्पताल आने वाला संक्रमित व्यक्ति आसानी से वायरस फैला सकता है और इस बारे में किसी को पता भी नहीं लग सकता. ' अस्पताल अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमय) से संबद्ध है. एएमयू प्रशासन ने विधायक के बयान की आलोचना की है.

AMU के प्रवक्ता हरसंभव कदम उठाने की बात कही
एएमयू के प्रवक्ता एस किदवई ने मंगलवार को एक बयान में कहा , 'अस्पताल प्रशासन मरीजों और चिकित्सकों की सुरक्षा के लिए हरसंभव कदम उठा रहा है . हमने मेडिकल स्टाफ को पीपीई किट प्रदान की है और पिछले सप्ताह से हमने अस्पताल में किसी भी तरह का उपचार कराने आने वाले मरीज के लिए इसे अनिवार्य कर दिया है .'

आरोपों को बताया निराधार
किदवई ने कहा कि यह आरोप पूरी तरह निराधार है कि अस्पताल समय पर प्रशासन को सूचित नहीं कर रहा है . जांच मशीनें चौबीसों घंटे चल रही हैं और पहले ही दिन से जिला प्रशासन को हर दिन की रिपोर्ट दी जा रही है. इस बीच जिला प्रशासन ने सोमवार की शाम पुष्टि की कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या अब 24 हो गयी है .

 

ये भी पढ़ें:

BJP विधायक सुरेश तिवारी की अपील- 'मुस्लिम विक्रेताओं से न खरीदें सब्जी'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज