नोएडा के क्वारेंटाइन सेंटर से फरार कोरोना मरीज अलीगढ़ में पकड़ा गया, गांव के 25 लोग क्वारेंटाइन
Aligarh News in Hindi

नोएडा के क्वारेंटाइन सेंटर से फरार कोरोना मरीज अलीगढ़ में पकड़ा गया, गांव के 25 लोग क्वारेंटाइन
अलीगढ़ में कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने के कारण पूरे गांव के 25 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया

नोएडा पुलिस (NOIDA Police), प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग की टीम की मदद से अलीगढ़ प्रशासन के साथ संयुक्त कार्रवाई में युवक को उसके घर से पकड़ा. इसके बाद युवक के संपर्क में आये परिवार व ग्रामीणों सहित करीब 25 लोगों को क्वारंटाइन करते हुये पूरे गांव को सैनेटाइज कराया है.

  • Share this:
अलीगढ़. नोएडा (NOIDA) के क्वारेंटाइन सेंटर (Quarantine Centre) से 22 अप्रैल को फरार हुआ कोरोना पॉजिटिव शख्स अलीगढ़ (Aligarh) के टप्पल थाना क्षेत्र के मौर गांव में पकड़ लिया गया है. ये इसी गांव का रहने वाला है. नोएडा पुलिस और प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग की टीम की मदद से अलीगढ़ प्रशासन के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए युवक को उसके घर से पकड़ा. इसके बाद युवक के संपर्क में आये परिवार व ग्रामीणों सहित करीब 25 लोगों को प्रशासन ने गांव के सर्व हितकारी जूनियर हाईस्कूल, मौर, अलीगढ़ में क्वारंटाइन करते हुये पूरे गांव को सैनेटाइज कराया है.

दरअसल थाना टप्पल क्षेत्र के मौर गांव में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब ग्रामीणों को पता चला कि गांव का रहने वाला सोनू नाम का युवक नोएडा में पिछले कई दिनों से 3 लोगों के साथ क्वारेंटाइन था. सोनू सहित एक और युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी. वहां से मौके का फायदा उठाते हुए तीन दिन पहले नोएडा क्वारंटाइन सेंटर से सोनू भागकर अपने गांव मौर पंहुच गया. इस बीच सोनू गांव के कई लोगों के संपर्क में आया.

तड़के पुलिस ने घर से दबोचा



शनिवार सुबह 3.30 बजे नोएडा पुलिस ने सोनू को उसके घर में सोते समय पकड़ लिया लेकिन जैसे ही गांववासियों को इसकी सूचना लगी तो गांव में अफरा-तफरी का माहौल वन गया. तुरंत स्वास्थ्य विभाग की टीम व पुलिस फोर्स ने पूरे गांव में सोनू के संपर्क में आए 25 लोगों को चिन्हित किया, जिन्हें गांव के ही स्कूल में क्वारेंटाइन कर दिया गया है. इनमें से करीब 9 लोगों को अलीगढ़ सैंपलिंग के लिए भेजते हुए पूरे गांव को सीज कर सैनेटाइज किया जा रहा है.
क्वारेंटाइन सेंटर में दो पॉजिटिव मरीज

स्वास्थ्य कर्मी ने बताया कि हमें सूचना मिली कि मौर गांव का एक व्यक्ति जिसका नाम सोनू है, वह गलगोटिया क्वारंटीन सेंटर, ग्रेटर नोएडा में क्वॉरेंटाइन था. उसके साथ 3 लोग थे, जिसमें से दो की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी.

22 अप्रैल को पहुंचा घर

इसी बीच 22 तारीख को सोनू मौका पाकर क्वारंटीन सेंटर से भाग कर गांव पंहुच गया. पुलिस इसको तलाश रही थी. आज सुबह नोएडा पुलिस ने इसको पकड़ लिया और अपने साथ वापस नोएडा ले गई. लेकिन गांव रहे 24 घंटो के दौरान सोनू अपने परिजनों के साथ गांव के लोगो से भी मिला है. वहीं इसके संपर्क में आये करीब 25 लोगो को चिन्हित किया गया है, चिन्हित किये गए लोगो में एक बच्चा भी शामिल है, जिसको सोनू ने अपनी गोद में उठाया था.

इन सभी 25 लोगों को प्रशासन ने गांव के सर्व हितकारी जूनियर हाईस्कूल मोर अलीगढ में क्वारंटाइन किया है और 9 ऐसे लोगों के सैम्पल जांच के लिए भेजे हैं, जिन्होंने सोनू के साथ खाना-पीना किया है.

प्रधान की सहायता से पुलिस मरीज तक पहुंची

गांव के प्रधान लेखराज सिंह ने बतायाकि रात करीब 3 बजे करीब मेरे पास नोएडा की पुलिस आई थी. उन्होंने मुझे सोते हुए जगाया. पुलिस ने मुझसे कहा आपके गांव में सोनू आया हुआ है. वह नोएडा के क्वारेंटाइन सेंटर से भागा हुआ है. हम दो-तीन दिनों से उसकी तलाश कर रहे हैं. मैंने पड़ोस में फ़ोन करके सोनू के बारे में पता किया तो पता चला सोनू अपने घर पर है. इसके बाद हम पुलिस के साथ पड़ोस के घर की छत से होकर सोनू के घर में घुसे और सोनू को नोएडा पुलिस पकड़ कर अपने साथ ले गई.

मामले में एक ग्रामीण ने बताया कि उसका छोटा भाई गांव में परचून की दुकान चलाता है. सोनू ने दुकान से समान ख़रीदा था. बता रहे हैं सोनू नोएडा में रहता है. सुबह जब पकड़ा गया, तभी सबको जानकारी हुई है.

ये भी पढ़ें:

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार नहीं देगी लॉकडाउन में कोई छूट: सूत्र

COVID-19 Lockdown: यूपी राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में बढ़ोत्तरी पर रोक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज