• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • COVID-19: AMU संबद्द कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों ने मांगे मास्क और सेनेटाइजर, फिलहाल अपने पैसे से खरीदे

COVID-19: AMU संबद्द कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों ने मांगे मास्क और सेनेटाइजर, फिलहाल अपने पैसे से खरीदे

तमिलनाडु में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या एक हजार हो गई है.

तमिलनाडु में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या एक हजार हो गई है.

जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल (Jawaharlal Nehru Medical College Hospital) उत्तर प्रदेश (UP) में कोविड-19 (COVID-19) संक्रमण की जांच और इलाज का केंद्र है. यहां के करीब 450 जूनियर डॉक्टरों ने अपने पैसे और चंदे से एक लाख रुपए के सुरक्षात्मक उपकरण खरीदे हैं.

  • Share this:
    अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश). अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) से संबद्ध जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने स्वास्थ्यकर्मियों के लिए COVID-19 से सुरक्षा के लिए जरूरी उपकरणों की कमी पर चिंता जताई है. मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष डॉक्टर शाहनवाज इकबाली ने रविवार को संवाददाताओं को बताया, ‘जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमण के परीक्षण और इलाज के प्रमुख केन्द्रों में शामिल है.

    सर्जिकल मास्क, सेनेटाइजर तथा सुरक्षात्मक उपकरणों की भारी कमी
    डॉक्टर शाहनवाज इकबाली ने बताया कि, अस्पताल में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए सर्जिकल मास्क और सेनेटाइजर तथा अन्य सुरक्षात्मक उपकरणों की भारी कमी है, जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. डॉ. शाहनवाज इकबाली ने कहा, ‘आवश्यकता की तात्कालिकता को देखते हुए रेजिडेंट डॉक्टरों ने अपने पैसे और कुछ अन्य लोगों से चंदा लेकर गत चार दिनों के दौरान करीब एक लाख रुपए के सुरक्षात्मक उपकरण खरीदे हैं.’

    अभी 'पाइपलाइन' में है सुरक्षात्मक उपकरणों की आपूर्ति
    एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर हमजा मलिक ने बताया, जब अस्पताल में सुरक्षात्मक उपकरणों की भारी कमी हुई तो जूनियर डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार की चेतावनी दी. हालांकि, एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर के समस्या निवारण के आश्वासन पर ऐसा नहीं किया गया. इस बीच, मेडिकल कॉलेज के एक प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षात्मक उपकरणों की आपूर्ति अभी 'पाइपलाइन' में है.

    कोविड-19 की जांच के केंद्रों में शामिल है यह अस्पताल
    हमजा मलिक ने बताया कि खरीद प्रक्रिया में पारदर्शिता बरतने के लिए केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित प्रक्रिया का सख्ती से पालन किया जा रहा है. मालूम हो कि जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण की जांच और इलाज के लिए बनाये गए चुनिंदा केन्द्रों में शामिल है. यहां करीब 450 जूनियर डॉक्टर कार्यरत हैं.

    ये भी पढ़ें - 

    COVID-19 Update: राजस्थान में 96 नए मामले, जयपुर में 35 और टोंक में 11 केस

    राजस्थान के ACS गृह बोले- 14 अप्रैल से पुलिस द्वारा जारी पास ही होंगे मान्य

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज