अलीगढ़ में डेंगू जांच के नाम पर चल रही लूट, जिला प्रशासन ने छापा मारा तो मचा हड़कंप
Aligarh News in Hindi

अलीगढ़ में डेंगू जांच के नाम पर चल रही लूट, जिला प्रशासन ने छापा मारा तो मचा हड़कंप
अलीगढ़ में जिला प्रशासन की टीम ने अस्पतालों में मारा छापा

अलीगढ़ (Aligarh) में डेंगू जांच के नाम लैब संचालकों द्वारा आम जनता को लूटने का काम किया जा रहा था. जिस पर जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने टीम गठित कर लैब संचालकों के खिलाफ कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिए थे. आज टीम ने एसडीएम इगलास के नेतृत्व में लैबों का निरीक्षण किया.

  • Share this:
अलीगढ़. यहां इगलास में ज़िला प्रशासन (District Administration) की टीम ने प्राइवेट अस्पतालों (Private hospitals) और लैब संचालकों के खिलाफ निरीक्षण कर बड़े पैमाने पर कार्रवाई की. टीम के निरीक्षण से फ़र्ज़ी डिग्रियों के सहारे संचालित लैब संचालकों में हड़कंप मच गया. टीम ने लैब और हॉस्पिटलों में मिली खामियों की रिपोर्ट ज़िला मुख्यालय को भेजी है. अलीगढ़ (Aligarh) में डेंगू जांच के नाम लैब संचालकों द्वारा आम जनता को लूटने का काम किया जा रहा था. जिसका संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने टीम गठित कर लैब संचालकों के खिलाफ कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिए थे. आज टीम ने एसडीएम इगलास के नेतृत्व में लैबों का निरीक्षण किया. निरीक्षण से लैब संचालकों में हड़कंप मच गया.

निरीक्षण की भनक लगते ही फर्जी लैब संचालक फरार

निरीक्षण की भनक लगते ही फ़र्ज़ी लैब संचालक मौके से फरार हो गए. बताया जा रहा है कि ये लैब संचालक फर्जी डिग्री का सहारा लेकर लोगों से पैसा ऐंठने का काम करते थे. उनकी जेब पर डाका डालकर अपनी जेब गर्म किया करते थे. लेकिन जैसे ही अधिकारियों की टीम द्वारा आज नगर का भ्रमण किया गया तो दूध का दूध और पानी का पानी हो गया. करीब एक दर्जन से ज्यादा लैब संचालक आज मौके का फायदा उठाकर फरार हो गए, वहीं एसडीएम और एसीएमओ की कार्यवाही के दौरान लैब और हॉस्पिटल के संचालकों के होश फाख्ता हो गए.



दो अस्पतालों में मिलीं अनियमितताएं
निरीक्षण के दौरान अशोक हॉस्पिटल और निशांत हॉस्पिटल पर अनियमिताओं का अंबार मिला. जिसको देखकर एसडीएम और एसीएमओ भड़क उठे और कार्रवाई की बात कहकर हॉस्पिटलों की जांच रिपोर्ट आलाधिकारियों भेज दी. टीम ने बताया निशांत अस्पताल में डॉक्टर उपस्थित नहीं मिला, पैथोलॉजी टेस्ट के किट मिले हैं. कई अनियमितताएं भी मिली हैं. इनके पास लैब चलाने का लाइसेंस नहीं है. इस संबंध में रिपोर्ट भेजी जा रही है. वहीं जो लैब बंद कर चले गए हैं उन्हें नोटिस दी जाएगी क्योंकि वे स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े हैं.

ये भी पढ़ें:

मायावती ने सपा को बताया मुस्लिम विरोधी, दानिश अली को बनाया संसदीय दल का नेता

UPPCL पीएफ घोटाले में गिरफ्तार पूर्व एमडी एपी मिश्रा कोर्ट में पेश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज