Home /News /uttar-pradesh /

घर बुलाकर महिला को जिंदा जलाने का मामला: परिजनों का आरोप, डॉक्टर दंपति को बचा रही पुलिस

घर बुलाकर महिला को जिंदा जलाने का मामला: परिजनों का आरोप, डॉक्टर दंपति को बचा रही पुलिस

अवैध संबंधों में डॉक्टर दंपति पर बेटी को जलाकर मारने की एफआईआर पर परिजनों ने पुलिस पर उठाए सवाल.

अवैध संबंधों में डॉक्टर दंपति पर बेटी को जलाकर मारने की एफआईआर पर परिजनों ने पुलिस पर उठाए सवाल.

Aligarh News: डॉक्टर के घर से एक महिला को जली हालत में निकाला गया था, जिसके बाद उसकी मौत हो गई. मृतक महिला के परिजनों का आरोप है कि उनकी मृतक बेटी और डॉक्टर के बीच अवैध संबंध थे. उसकी बेटी को डॉक्टर और उसकी पत्नी ने फोन कर अपने घर बुलाया था. घर पहुंचते ही गेट बंद कर उसके ऊपर डॉक्टर और उसकी पत्नी ने पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी. डॉक्टर दंपत्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था, लेकिन पुलिस ने दोनों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की.

अधिक पढ़ें ...

अलीगढ़. डॉक्टर दंपति (Doctor couple) के घर के अंदर संदिग्ध परिस्थितियों में जली महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई. महिला के परिजनों का आरोप है कि मौत से पहले महिला ने पिता और पुलिस को अवैध संबंधों के चलते डॉक्टर द्वारा उसे आग लगाने का बयान दिया था. उसने कहा था कि पिछले दो सालों से महिला और डॉक्टर के बीच अवैध संबंध थे. अब परिजनों ने एफआईआर के बाद भी पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया है.

अलीगढ़ जिले के थाना क्वार्सी इलाके के स्वर्ण जयंती नगर क्षेत्र में डॉक्टर दंपत्ति के घर से जलती हुई हालत में घर से बाहर निकली महिला की जेएन मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान मौत हो गई. महिला की मौत की सूचना पर पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मृतक महिला के परिजनों का आरोप है कि उसकी मृतक बेटी और डॉक्टर के बीच 2 वर्षों से अवैध संबंध थे. उसकी बेटी को डॉक्टर और उसकी पत्नी ने फोन कर अपने घर स्वर्ण जयंती नगर बुलाया था. डॉक्टर व उसकी पत्नी ने घर पहुंचते ही घर का गेट बंद कर दिया, जिसके बाद उसके ऊपर डॉक्टर और उसकी पत्नी ने पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी. परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर दंपत्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था, लेकिन पुलिस ने दोनों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. उल्टा परिवार के लोगों पर विमला की मौत के बाद उसका बिना पोस्टमार्टम कराए अंतिम संस्कार करने का दबाव बनाया गया.

परिजनों का कहना है कि आरोपी डॉक्टर कमल सिंह के खिलाफ एक महिला द्वारा पहले भी 376 का मुकदमा दर्ज कराया गया था तो वहीं कासगंज जिला के ढोलना इलाके में डॉक्टर के साथ रहते हुए एक महिला और मर गई थी. जबकि महिला की मौत के बाद गुस्साए परिजनों द्वारा पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी डॉक्टर दंपत्ति की गिरफ्तारी नहीं करने को लेकर सवालिया निशान खड़े किए गए हैं.

घटना के बाद महिला के परिजनों ने जो तहरीर दी उसमें कहा गया कि उनकी बेटी, छर्रा सीएचसी पर आशा कार्यकर्ता है, उसे खुद डॉक्टर की पत्नी पुष्पलता उर्फ कल्पना ने फोन करके अपने घर बुलाया और फिर पेट्रोल डालकर आग लगा दी. तहरीर के अनुसार उनकी बेटी कमल सिंह के साथ अलग रहती थी इसी के चलते इस घटना को अंजाम दिया गया है. जलने के बाद खुद बेटी ने पिता को फोन करके यह बात बताई है. तहरीर के आधार पर डॉक्टर की पत्नी को घटना का व डॉक्टर को साजिश का आरोपी बनाकर मुकदमा दर्ज किया गया था, लेकिन थाने में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने आरोपी डॉक्टर दंपत्ति के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की.

पुलिस डॉक्टर दंपत्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद पूरे मामले इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज सहित अन्य पहलुओं पर भी जांच कर रही है.

Tags: Aligarh Crime News, Doctor couple charged with murder, Illicit relationship murder, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर