हाथरस: बीएसपी के पूर्व MLC मुकुल उपाध्याय पार्टी से निष्कासित

अलीगढ़ मंडल के मुख्य जोन इंचार्ज रणवीर सिंह कश्यप व जिलाध्यक्ष तिलकराज यादव ने बताया कि जिला इकाई ने मुकुल उपाध्याय के पार्टी में अनुशासनहीनता व पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने की शिकायत हाईकमान से की थी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 9, 2018, 12:30 PM IST
हाथरस: बीएसपी के पूर्व MLC मुकुल उपाध्याय पार्टी से निष्कासित
पूर्व एमएलसी मुकुल उपाध्याय
News18 Uttar Pradesh
Updated: November 9, 2018, 12:30 PM IST
हाथरस से पूर्व एमएलसी मुकुल उपाध्याय को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने के आरोप में बसपा से निष्कासित कर दिया गया है. बता दें कि मुकुल उपाध्याय पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के भाई हैं. अलीगढ़ मंडल के मुख्य जोन इंचार्ज रणवीर सिंह कश्यप व जिलाध्यक्ष तिलकराज यादव ने बताया कि जिला इकाई ने मुकुल उपाध्याय के पार्टी में अनुशासनहीनता व पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने की शिकायत हाईकमान से की थी. जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है.

मुकुल उपाध्याय ने जिला अलीगढ़ की राजनीति में 2004 में कदम रखा था. चौ. बिजेंद्र सिंह के लोकसभा चुनाव जीतने पर खाली हुई इगलास विधानसभा सीट पर उप चुनाव हुआ था. इसमें बसपा प्रत्याशी मुकुल उपाध्याय ने रालोद के पूर्व विधायक चौ. मलखान सिंह को हराकर पहली बार बसपा का खाता खोला था.  2008 में सुनील सिंह को हराकर मुकुल एमएलसी बने थे. 2014 में मुकुल ने बसपा के टिकट पर ही गाजियाबाद लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा, मगर जीत नहीं पाए.

पिछली बार शिकारपुर विधानसभा सीट पर भी मुकुल उपाध्याय को हार का सामना करना पड़ा था.  आगामी 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर रामवीर उपाध्याय व मुकुल उपाध्याय की यहां पुन: सक्रियता दिखाई दे रही थी, मगर अचानक हाईकमान ने मुकुल को पार्टी से निष्कासित कर दिया.

(रिपोर्ट: हिमांशु त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें:

हरदोई: दबंगों ने किया पुलिस टीम पर जानलेवा हमला

लखनऊ: SUV और ट्रक की भिड़ंत, एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत
Loading...
संभल: रोडवेज बस और बोलेरो की आमने सामने टक्कर, 6 लोगों की मौत

मुजफ्फरनगर: ट्रक और ट्रैक्टर की भीषण टक्कर, 4 भाइयों की दर्दनाक मौत

 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर