AMU के कुलपति बोले- मजबूरी में लिया पुलिस बुलाने का फैसला
Aligarh News in Hindi

AMU के कुलपति बोले- मजबूरी में लिया पुलिस बुलाने का फैसला
कुलपति ने कहा कि पुलिस की जांच में यह साबित हो गया है कि विश्वविद्यालय परिसर में कुछ बाहरी असामाजिक तत्व घुस आए थे. (फाइल फोटो)

एएमयू (AMU) प्रशासन को विश्वसनीय जानकारी मिली थी कि बाहर के कुछ असामाजिक तत्व विश्वविद्यालय परिसर में घुस गए हैं.

  • भाषा
  • Last Updated: December 18, 2019, 10:00 PM IST
  • Share this:
अलीगढ़. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (Aligarh Muslim University) में गत रविवार को हिंसा के दौरान एएमयू प्रशासन द्वारा पुलिस को बुलाए जाने को लेकर उठे विवाद के बाद कुलपति तारिक मंसूर (Tariq Mansoor) ने बुधवार को ऐसा करने के पीछे की मजबूरी को स्पष्ट किया.

प्रोफेसर मंसूर ने विश्वविद्यालय के छात्रों और एएमयू परिवार को लिखे खुले पत्र में स्पष्ट किया कि विश्वविद्यालय प्रशासन को विश्वसनीय जानकारी मिली थी कि बाहर के कुछ असामाजिक तत्व विश्वविद्यालय परिसर में घुस गए हैं. इसकी वजह से उन्हें पुलिस बुलाने का 'तकलीफदेह फैसला' लेना पड़ा.

उन्होंने कहा कि रविवार रात सैकड़ों लोगों की भीड़ विश्वविद्यालय परिसर में जमा हो गई थी जिसकी वजह से विश्वविद्यालय की संपत्ति और छात्रों के लिए खतरा उत्पन्न हो गया था. ऐसे में उनके सामने पुलिस बुलाने के अलावा और कोई चारा नहीं था.



कुलपति ने कहा कि पुलिस की जांच में यह साबित हो गया है कि विश्वविद्यालय परिसर में कुछ बाहरी असामाजिक तत्व घुस आए थे जिन्होंने विश्वविद्यालय में हिंसा फैलाई उन्होंने विश्वविद्यालय के छात्रों से अपील की कि वे 5 जनवरी के बाद विश्वविद्यालय खुलने पर एएमयू प्रशासन के साथ सहयोग करें.

ये भी पढ़ें-

एएमयू परिसर में पुलिस ज्यादती के खिलाफ दायर करेंगे कानूनी वाद: पूर्व IAS

CAA पर बवाल: AMU छात्र संघ उपाध्यक्ष समेत 78 के खिलाफ FIR दर्ज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज