अलीगढ़: कब्र की तरह बनाया हैंडपंप का चबूतरा, तिरंगे का अपमान देख BJP विधायक ने दर्ज कराई FIR
Aligarh News in Hindi

अलीगढ़: कब्र की तरह बनाया हैंडपंप का चबूतरा, तिरंगे का अपमान देख BJP विधायक ने दर्ज कराई FIR
कब्र की तरह बनाया हैंडपंप का चबूतरा

राष्ट्रध्वज (National Flag) के अपमान के मामले में विधायक (MLA) ने दो लोगों के खिलाफ देशद्रोह की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 14, 2020, 2:53 PM IST
  • Share this:
अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के कुछ गांवों में एक गैर सरकारी संस्था द्वारा बिना अनुमति हैंडपंप (Hand Pump) के साथ शिलालेख भी लगवाया गया है. इस शिलालेख में दर्ज विवरण अरबी भाषा में है. इसमें तिरंगे के साथ कुवैत का ध्वज अंकित है. इसके अलावा राष्ट्रीय ध्वज 'तिरंगा' पर 24 के बदले आठ तीलियां होने के कारण लोगों में आक्रोश है. राष्ट्रध्वज के अपमान के मामले में भाजपा विधायक ने दो लोगों के खिलाफ देशद्रोह की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है. पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है.

आरोप है कि अलीगढ़ के गांव खुर्रमपुर निवासी शमशेर को ठेका देकर गांव खुर्रमपुर एवं दुबिया में 45 नल लगवा दिए, जिसके चबूतरे को कब्र के आकार में बनवाकर अरबी भाषा में शिलालेख लगा दी गई. इसमें भारत के राष्ट्रीयध्वज में चक्र में तीलियों की संख्या मात्र 8 रखी गई. इस तरह राष्ट्रीय ध्वज का अपमान हुआ. इसके साथ ही कुवैत का झंडा भी इस पर बनाया गया.

बीजेपी विधायक ने दर्ज कराई एफआईआर
यह देख लोगों में आक्रोश पनपा और सूचना छर्रा विधायक ठाकुर रविंद्र पाल सिंह तक पहुंची. उन्होंने मौके पर जाकर जानकारी ली और नल लगाने वाले लोगों को 24 घंटे में स्पष्टीकरण देने को कहा. इसके साथ ही उन्होंने नल पर लगे शिलालेख को हटाने की बात कही. छर्रा विधायक ने शमशेर पुत्र शेर मोहम्मद तथा वारिक वली के खिलाफ राष्ट्र गौरव अपमान निवारण अधिनियम की धारा 2 व 269 में मुकदमा दर्ज कराया है.
एसएसपी बोले- आरोपियो पर होगी कड़ी कार्रवाई


अलीगढ़ के एसएसपी मुनिराज ने जानकारी देते हुए बताया कि अलीगढ़ के थाना अकराबाद इलाके के खुर्रमपुर, दुबिया सहित कुछ अन्य गांवों में शेख अब्दुल्ला चैरिटी सोसाइटी के द्वारा बिना सरकारी अनुमति के बोरवेल हैंडपंप मशीन लगाई गयी थी. हैंडपंप के साथ एक शिलालेख बनाया गया था, जिसमें दोनों देशों के राष्ट्रीय ध्वज भी लगाए थे. साथ ही अरबी में कुछ लिखा भी गया था. उन्होंने बताया कि छर्रा विधायक रविंद्र पाल सिंह ने विरोध करते हुए एक एप्लीकेशन दिया गया था, जिस पर थाना अकराबाद पर राष्ट्र गौरव अपमान निवारण अधिनियम 1971 (2) व 269 (यानी उपेक्षापूर्ण कार्य जिससे जीवन के लिए संकट पूर्ण रोग का संक्रमण फैलना संभव हो) की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है.

ये भी पढ़ें- AAP सांसद संजय सिंह ने योगी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, बोले- यूपी में रक्षक बने भक्षक

उक्त प्रकरण की थाना पुलिस द्वारा जांच की जा रही है अभी तक यह पता चला है कि इनके द्वारा जिला प्रशासन से यह करने के लिए कोई अनुमति नहीं ली है. इस संस्था के द्वारा लगभग 20-25 नल लगाया गया है. जैसे यह प्रकरण पुलिस के संज्ञान मेंं आया तो पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और जांच की जा रही है. जांच में पता किया जा रहा है कि इन लोगों के पास पैसा कहां से आया और यह लोग किस संगठन से जुड़े हुए हैं. दोषी पाए जाने पर इन लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी.

(रिपोर्ट- रंजीत सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading