Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    हाथरस मामला: पीड़िता का इलाज करने वाले डॉक्टर-CMO को AMU के VC ने किया सस्पेंड

    पुलिस-प्रशासन ने आधी रात को पीड़ित युवती के घरवालों को सूचित किए बिना उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया था (फाइल फोटो)
    पुलिस-प्रशासन ने आधी रात को पीड़ित युवती के घरवालों को सूचित किए बिना उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया था (फाइल फोटो)

    अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (AMU VC) तारिक मंसूर ने जेएन मेडिकल कॉलेज में हाथरस की पीड़िता (Hathras Victim) का इलाज करने वाले डॉक्टर और सीएमओ को निलंबित कर दिया है. सीबीआई (CBI) की पूछताछ के बाद एएमयू के वाइस चांसलर ने यह कार्रवाई की है

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 20, 2020, 9:42 PM IST
    • Share this:
    अलीगढ़. हाथरस मामले (Hathras Incident) में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के वाइस चांसलर ने बड़ी कार्रवाई की है. उन्होंने जेएन मेडिकल कॉलेज में हाथरस की पीड़िता का इलाज करने वाले डॉक्टर और सीएमओ को निलंबित कर दिया है. सीबीआई की पूछताछ के बाद एएमयू के वाइस चांसलर (AMU VC) तारिक मंसूर ने यह कार्रवाई की है. जिन डॉक्टरों के विरुद्ध यह कार्रवाई की गई है, उनके नाम हैं- डॉक्टर ओबैद और डॉक्टर मोहम्मद अजीमुद्दीन मलिक.

    दरअसल सोमवार को सीबीआई की टीम ने जांच के सिलसिले में एएमयू कैंपस के अंदर स्थित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज पहुंची थी. इसके ही बाद एएमयू वीसी ने इन दोनों डॉक्टरों के खिलाफ एक्शन लेते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया है.

    मंगलवार को CBI की टीम ने फिर पीड़ित परिवार से की मुलाकात



    इससे पहले, मंगलवार को सीबीआई की टीम ने हाथरस के बुलागढ़ी गांव जाकर पीड़ित परिवार से एक बार फिर मुलाकात की. साथ ही सीबीआई घटना वाली जगह पर भी दोबारा गई. सीबीआई की एक वरिष्ठ अधिकारी ने हाथरस पहुंचकर इस मामले की जांच में हुई प्रगति का जायजा लिया. अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी की संयुक्त निदेशक संपत मीणा हाथरस स्थित सीबीआई के कैंप कार्यालय पहुंची थीं.



    बता दें कि बीते 14 सितंबर को बुलागढ़ी गांव में कथित रूप से 19 वर्षीय एक दलित युवती के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया था. इस दौरान पीड़िता के साथ मारपीट भी की गई थी. बुरी तरह घायल युवती को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया था. जहां पंद्रह तक जिंदगी और मौत से संघर्ष करने के बाद उसने 29 सितंबर को दम तोड़ दिया था. (रंजीत सिंह की रिपोर्ट)
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज