बीवी ने दहेज में नहीं दिया मकान तो शौहर ने डाक से भेजा तीन तलाक

संसद में ट्रिपल तलाक़ के विरुद्ध कानून बनाये जाने के बाद भी अलीगढ़ में इसका कोई व्यापक असर नहीं दिखाई दे रहा है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 9, 2019, 7:33 AM IST
बीवी ने दहेज में नहीं दिया मकान तो शौहर ने डाक से भेजा तीन तलाक
जिले के क्वार्सी थाना सखेत्र अंतर्गत नगला पटवारी निवासी एक महिला को उसके पति ने रजिस्ट्री के माध्यम से ट्रिपल तलाक भेजा है.
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 9, 2019, 7:33 AM IST
संसद में ट्रिपल तलाक़ (Triple Talaq) के विरुद्ध कानून बनाये जाने के बाद भी अलीगढ़ में इसका कोई व्यापक असर नहीं दिखाई दे रहा है. जिले के क्वार्सी थाना सखेत्र अंतर्गत नगला पटवारी निवासी एक महिला को उसके पति ने रजिस्ट्री के माध्यम से ट्रिपल तलाक भेजा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला की अलीगढ़ निवासी एक युवक से 2005 में शादी हुई थी. तभी से दहेज की लगातार मांग की जाने लगी. पत्नी ने जैसे-तैसे करके एक मकान बनवा लिया. बस उसी मकान को अपने नाम करवाने के लिए पति लगातार से दबाव बनाने लगा.

पति मांग रहा था मकान
मकान नाम नहीं करने पर पति ने रजिस्ट्री के माध्यम से पत्नी को ट्रिपल तलाक भेज दिया है. पीड़ित महिला के अनुसार शादी के बाद से ही लगातार पैसों और दहेज की मांग पति और उनके परिवार के द्वारा की जाने लगी. उसी समय मेरी सरकारी स्कूल में नौकरी लग गई. जिसके बाद मैंने लोन लेकर एक मकान बना लिया. फिर उसके बाद पति और उनके परिवार के लोगों ने नई मांग रख दी कि मकान हमारे नाम करो. जब मैंने वो मकान इन लोगों के नाम नहीं किया तो इन लोगों ने मुझे और मेरे 3 बच्चों को जान से मारने की नीयत से घर से बाहर निकाल दिया.

पत्नी और बच्चों को घर से निकाला

महिला के मुताबिक लगातार उसे और उसके बच्चों को परेशान किया जा रहा है. महिला ने कहा, ' मैं मानसिक रूप से बहुत परेशान हो चुकी हूं, मुझे न्याय चाहिए.' वहीं घटनाक्रम पर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने कहा कि महिला को उसके शौहर ने डाक के ज़रिए तलाक भेजा था. शिकायत दर्ज़ कराई गई है. क्वार्सी थाना पुलिस को निर्देशित किया गया है कि मामले में उचित कार्रवाई करें.

(प्रशांत कुमार की रिपोर्ट)

Loading...

ये भी पढ़ें:

कानून बनने के बाद भी UP में जारी है ट्रिपल तलाक, किसी की कटी नाक तो किसी ने झेला हलाला

राम जन्मभूमि पर केवल रामलला का अधिकार है, निर्मोही अखाड़ा का नहीं: VHP
First published: August 9, 2019, 6:01 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...