AMU के छात्रों को मिला JNU छात्र संघ उपाध्यक्ष का साथ, यूनिवर्सिटी पर लगाया ये आरोप
Aligarh News in Hindi

AMU के छात्रों को मिला JNU छात्र संघ उपाध्यक्ष का साथ, यूनिवर्सिटी पर लगाया ये आरोप
एएमयू छात्रों के प्रदर्शन को सपोर्ट करने पहुंचे जेएनयू के छात्र.

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर एएमयू छात्र काफी दिनों से धरना दे रहे हैं. जबकि आज उन्‍हें समर्थन देने जेएनयू (JNU) की छात्र संघ उपाध्यक्ष सारिका और छात्र अमित भी अलीगढ़ पहुंचे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
अलीगढ़. एएमयू धरने को समर्थन देने के लिए आज जेएनयू के छात्र अलीगढ़ पहुंचे. इस दौरान जेएनयू (JNU) की छात्र संघ उपाध्यक्ष सारिका और छात्र अमित ने आज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (​​Aligarh Muslim University) के डक प्वाइंट धरना दे रहे छात्रों को समर्थन दिया है. आपको बता दें कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है. 15 दिसंबर को पुलिस और छात्रों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद यूनिवर्सिटी को 5 जनवरी तक बंद कर दिया गया है. यही नहीं, नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर छात्रों को अभी धरना जारी है. जबकि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने बुधवार को वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर (VC Professor Tariq Mansoor) की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया है कि यूनिवर्सिटी को अभी नहीं खोला जाएगा.

जेएनयू ने छात्रों ने लगाया ये आरोप
जेएनयू की छात्र संघ उपाध्यक्ष सारिका ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि जैसा तानाशाही पूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है, वह बहुत घातक और खतरनाक है. कुछ दिन पहले जेएनयू के अंदर पुलिस ने तानाशाही दिखाते हुए छात्रों पर बर्बरता पूर्ण लाठीचार्ज किया गया, जिसमें एक छात्र की मौत हो गई, वैसा ही नजारा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी देखने को मिला है. यहां शांति पूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर सरकार के इशारे पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया गया. इतना ही नहीं छात्रों के ऊपर अवैध हथियार व अन्य चीजों का इस्तेमाल किया गया, जिससे कई छात्र गंभीर रूप से घायल हुए हैं. साथ ही उन्‍होंने आरोप लगाया कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी प्रशासन भी पुलिस का सपोर्ट कर रहा है. जिस तरह से एएमयू अचानक बंद कर दिया गया और अब यूनिवर्सिटी खोलने की तारीखों को आगे बढ़ा दिया है इससे शैक्षणिक कार्य भी पिछड़ता जा रहा है. साथ ही जेएनयू के छात्र अमित ने दावा किया कि कुछ भी हो जाए सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा.

पुलिस ने कही ये बात



इस मामले पर सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया ने बताया कि जेएनयू के छात्र आज एएमयू में आए हुए हैं. सुरक्षा की दृष्टि आरएएफ व पीएसी के साथ महिला पुलिसकर्मी भी तैनात की गई हैं. जब तक पुलिस एएमयू सर्किल पर डटी रहेगी जब तक मामला शांत नहीं हो जाता है.



 

ये भी पढ़ें-

AMU की छुट्टियां बढ़ाईं, अब 6 जनवरी को नहीं खुलेगी यूनिवर्सिटी

 

बिजनौर सीजेएम कोर्ट शूट आउट के बाद हाईकोर्ट सख्‍त, योगी सरकार से मांगा अदालतों की सुरक्षा का रोड मैप

 
First published: January 2, 2020, 10:08 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading