होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /जानिए क्यों? समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जसवंत यादव का पर्चा हुआ खारिज

जानिए क्यों? समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जसवंत यादव का पर्चा हुआ खारिज

अलीगढ:-एमएलसी चुनाव के लिए अलीगढ़–हाथरस से समाजवादी पार्टी व भाजपा प्रत्याशी ने नामांकन दाखिल किया था.जिसमें समाजवादी प ...अधिक पढ़ें

    अलीगढ:-एमएलसी चुनाव के लिए अलीगढ़–हाथरस से समाजवादी पार्टी व भाजपा प्रत्याशी ने नामांकन दाखिल किया था.जिसमें समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जसवंत सिंह यादव का नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया है.अपर जिलाधिकारी नगर ने सपा प्रत्याशी के नामांकन खारिज किए जाने की पुष्टि की है.

    स्थानीय प्राधिकरण सीट के लिए कुल 2 नामांकन हुए थे जिसमें सपा से निवर्तमान एमएलसी जसवंत सिंह यादव ने नामांकन किया था.वहीं भाजपा से जिलाध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह ने नामांकन किया था.प्रशासन द्वारा दोनों नामांकन पत्रों की जांच की गई जिसमें सपा के 3 प्रस्तावकों के हस्ताक्षर पर संदेह हुआ.अलीगढ़ डीएम ने सपा प्रत्याशी के तीनों संदेह वाले प्रस्तावकों को पेश करने के निर्देश दिए.सपा प्रत्याशी 3 में से सिर्फ दो ही प्रस्तावकों को पेश कर पाए.तीसरा प्रस्तावक जिलाधिकारी के सामने पेश नहीं हो सका,जिसके चलते समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जसवंत सिंह यादव का पर्चा खारिज कर दिया गया है.

    भारतीय जनता पार्टी एमएलसी प्रत्याशी ऋषिपाल सिंह ने खुद को निर्विरोध विजय घोषित करते हुए कहा कि यह जीत भाजपा की और योगी की है.जिसके बाद कलेक्ट्रेट परिसर में तमाम भाजपा के नेता पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने विक्ट्री निशान दिखाते हुए जश्न मनाया.

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    एडीएम सिटी राकेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि नामांकन प्रक्रिया के मद्देनजर स्कूटनी प्रक्रिया चल रही थी.जिस दौरान भाजपा प्रत्याशी ने सपा प्रत्याशी के तीनों प्रस्तावकों के सिग्नेचर पर आपत्ति जताई.जिसके बाद समाजवादी पार्टी की ओर से 2 महिला प्रत्याशियों को प्रस्तुत कर दिया गया.लेकिन तीसरे प्रस्तावक प्रमोद वार्निंग के बाद भी अगले दिन नहीं आए.जिसके चलते सपा प्रत्याशी जसवंत सिंह यादव का पर्चा खारिज कर दिया गया है.स्कूटनी प्रक्रिया के तहत नाम वापसी का कल आखिरी दिन है.उसके बाद ही अंतिम रिपोर्ट आगे भेज दी जाएगी.

    Tags: अलीगढ़

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें