होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Koil Election Result: कोल सीट पर फिर लकी साबित हुए अनिल पाराशर, करीब साढ़े 5 हजार वोटों के अंतर से जीती BJP

Koil Election Result: कोल सीट पर फिर लकी साबित हुए अनिल पाराशर, करीब साढ़े 5 हजार वोटों के अंतर से जीती BJP

Bidhuna Assembly  Seat Result Live : विनय शाक्य ने  2017 में सपा के दिनेश कुमार वर्मा को 3910 वोट के अंतर से हराया था.

Bidhuna Assembly Seat Result Live : विनय शाक्य ने 2017 में सपा के दिनेश कुमार वर्मा को 3910 वोट के अंतर से हराया था.

Koil Assembly Seat Result Live: अलीगढ़ जिले की कोल विधानसभा सीट (Koil Vidhan Sabha Chunav Result Live) पर कांटे की टक्क ...अधिक पढ़ें

Koil Assembly Seat Result: अलीगढ़ जिले की कोल विधानसभा सीट (Koil Vidhan Sabha Chunav Result) पर कांटे की टक्‍कर केबाद एक बार फिर मौजूदा व‍िधायक अनिल पाराशर लकी साबित हुए और सीट को बीजेपी के खाते में ले गए. शुरुआती रुझानों से ही यहां भाजपा और समाजवादी पार्टी में जबरदस्‍त जंग देखने को मिली. हालांकि आखिर में भाजपा के अनिल पाराशर (BJP anil parashar) ने सपा के उम्मीदवार शाज इशाक (SP Shaaz Ishaaq) से यह सीट झटक ली. हालांकि इस सीट पर जीत का अंतर मामूली रहा और करीब साढ़े 5 हजार वोटों से बीजेपी ने यह सीट जीती.

फाइनल राउंड के बाद बीजेपी के पाराशर ने 107495 वोट हासिल किए. जबकि सपा के इशाक को 101968 वोट मिले. करीब साढ़े 5 हजार के इस अंतर ने हार जीत का फैसला किया. इस सीट पर कांग्रेस का प्रदर्शन अन्‍य सीटों के मुकाबले कुछ बेहतर रहा और प्रत्‍याशी विवेक बंसल (congress vivek bansal) ने 15452 वोट हासिल किए. जबकि बसपा ने  मोहम्मद बिलाल (BSP Mohammad Bilal) को मैदान में उतारा था जिन्‍हें 22880 वोट मिले.

कोल विधानसभा सीट

आपके शहर से (अलीगढ़)

अलीगढ़
अलीगढ़

2008 में परिसीमन के बाद इस सीट के भौगोलिक क्षेत्र में हुए कुछ बदलाव के चलते जातीय समीकरण भाजपा के अनुकूल नहीं रहे. इसके बावजूद ध्रुवीकरण और ‘मोदी मैजिक’ के बल पर अनिल पाराशर 2017 ने 15 साल बार इस सीट पर भाजपा की वापसी कराई.

बात फिर किशनलाल दिलेर की. सबसे पहले 1967 में दिलेर जनसंघ के बैनर तले निर्वाचित हुए. अगले चुनाव यानि 1969 में वह कांग्रेस नेता पूरन चंद के हाथों पराजित हो गए. पूरन चंद भी उस जमाने में कांग्रेस के दिग्‍गज हुआ करते थे. 1980 के चुनाव तक दिलेर और पूरन चंद के बीच परस्‍पर प्रतिद्वंद्विता चलती रही. इस दौरान हुए चार चुनावों में तीन बार बाजी पूरन चंद के हाथ लगी. 67 के अलावा किशनलाल दिलेर 77, 85, 91 और 93 में इस सीट से निर्वाचित हुए. 1996 में भी इस सीट पर भाजपा की जीत हुई, लेकिन इस बार मैदान दिलेर नहीं थे. उनकी जगह रामसखी उतरीं. उन्‍होंने बहुजन समाज पार्टी के उम्‍मीदवार गंगा प्रसाद को साढ़े 23 हजार वोटों से हराया. इसके बाद के दो चुनावों में इस सीट पर बसपा के महेंद्र सिंह का कब्‍जा रहा. 2012 में समाजवादी पार्टी के जमीर उल्‍ला खान जीते थे.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 (UP Assembly Elections 2017)

उत्तर प्रदेश की सत्तरहवीं विधानसभा के लिए आम चुनाव 11 फरवरी से 8 मार्च 2017 तक सात चरणों में आयोजित हुए थे. इन चुनावों में मतदान प्रतिशत लगभग 61% रहा था. भारतीय जनता पार्टी ने 312 सीटें जीतकर बहुमत प्राप्त किया था. समाजवादी पार्टी को 47 सीटें और बसपा को 19 सीटों पर जीत मिली थीं. वहीं कांग्रेस को सात सीटों से ही संतोष करना पड़ा था.

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Assembly Elections

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें