CAA-NRC के खिलाफ 15 अगस्त से दोबारा आंदोलन शुरू करने की तैयारी
Aligarh News in Hindi

CAA-NRC के खिलाफ 15 अगस्त से दोबारा आंदोलन शुरू करने की तैयारी
कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से स्थगित हुए एंटी सीएए और एनआरसी प्रोटेस्ट को फिर से शुरू करने की कवायद तेज हो गई है. (फाइल)

महमूद प्राचा (Mahmood Pracha) ने कहा कि भारत सरकार की अनलॉक स्टेज काफी एडवांस स्टेज पर पहुंच गई है. हर प्रकार की गतिविधि को सरकार अनुमति दे रही है. ऐसे में 15 अगस्त से फिर से प्रोटेस्ट शुरू कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 10, 2020, 2:02 PM IST
  • Share this:
अलीगढ़. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से स्थगित हुए एंटी सीएए और एनआरसी प्रोटेस्ट (CAA and NRC Protest) को फिर से शुरू करने की कवायद तेज हो गई है. इसी क्रम में सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद प्राचा (Mahmood Pracha) शनिवार को अलीगढ़ पहुंचे. उन्होंने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि सीएए और एनआरसी के खिलाफ आंदोलन की धार फिर से तेज करने को लेकर तैयारी चल रही है. महमूद प्राचा ने कहा कि भारत सरकार की अनलॉक स्टेज काफी एडवांस स्टेज पर पहुंच गई है. हर प्रकार की गतिविधि को सरकार अनुमति दे रही है. ऐसे में 15 अगस्त से फिर से प्रोटेस्ट शुरू कर सकते हैं.

महमूद प्राचा ने सीएए और एनआरसी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अलीगढ़ से निमंत्रण और डिमांड आ रही थी कि वे यहां आएं, क्योंकि जो संविधान बचाने का आंदोलन चल रहा था उसे कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते रोक दिया गया था. अब कोरोना वायरस की अनलॉक प्रक्रिया बहुत एडवांस स्टेज पर पहुंच चुकी है. भारत सरकार ने भी अनलॉक गाइडलाइन जारी कर दी हैं. पूरे देश में अनलॉक गाइडलाइन जारी हो रही है. इसके तहत हर प्रकार की गतिविधि को शुरू करने के लिए सरकार खुद बढ़ावा दे रही है. लिहाजा आंदोलन फिर से शुरू किया जा सकता है.

आंदोलन की तैयारीयों पर चल रही बात
दूसरी एक अहम वजह यह भी है कि मोहर्रम के लिए जो मुस्लिम समुदाय में धार्मिक गतिविधियों किस प्रकार से कानूनी दायरे में रहकर पूरा किया जा सके इसके लिए सभी लोगों को बताया जाएगा. अगर उन्हें कोई गलत तरह से प्रताड़ित करे तो उसे कैसे बचा जाए इसके लिए भी उन्हें बताया जाएगा. साथ ही आप सब लोगों को पता है कि सुप्रीम कोर्ट ने जगन्नाथपुरी में इजाजत दी थी रथयात्रा निकालने की. सुप्रीम कोर्ट की जो गाइडलाइन थी वह बाकी धर्म समुदाय की गतिविधियों के लिए लागू होती है और 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के आसपास से दुबारा संविधान बचाओ आंदोलन शुरू होगा इंशाल्लाह.



(रिपोर्ट: रंजीत कुमार सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज