UP महिला आयोग की सदस्य के विवादित बोल, कहा-लड़कों के साथ उठने-बैठने, मोबाइल इस्तेमाल करने से बढ़ रहा क्राइम

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Controversial Statement: महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों को लेकर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी के विवादित बयान की चौतरफा आलोचना हो रही है.

  • Share this:

अलीगढ़. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में महिला आयोग (Women's Commission) की सदस्य मीना कुमारी का एक विवादित बयान इन दिनों चर्चा में है. इस बयान को लेकर उनकी काफी आलोचना भी हो रही है. अलीगढ़ पहुंची मीना कुमारी का मानना है कि महिलाओ द्वारा मोबाइल फोन इस्तेमाल करने की वजह से ही उनके खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराधों (Crime) पर समाज को खुद गंभीर होना पड़ेगा. ऐसे मामलों में मोबाइल एक बड़ी समस्या बन कर आया है, लड़कियां घंटों मोबाइल पर बात करती हैं, लड़कों के साथ उठती--बैठती हैं. इससे महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले बढ़ रहे हैं.

अलीगढ़ में मीना कुमारी ने कहा कि “लड़कियों के मोबाइल भी चेक नहीं किये जाते. घरवालों को पता नहीं होता और फिर मोबाइल से बात करते-करते लड़कों के साथ वह भाग जाती हैं. “ उन्होंने अपील की है कि “लड़कियों को मोबाइल न दें और अगर मोबाइल दें तो उनकी पूरी मॉनिटरिंग करें.” उन्होंने कहा कि “इसमें मां की बड़ी जिम्मेदारी है और आज अगर बेटियां बिगड़ गई हैं तो उसके लिए उनकी माताएं ही जिम्मेदार हैं.”

बयान की हो रही आलोचना

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश समेत पूरे देश में महिलाओं के प्रति अपराध के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. ऐसे संवेदनशील मसले पर महिला आयोग की सदस्य द्वारा ही इस तरह के बयान देने की काफी आलोचना हो रही है. सोशल मीडिया पर इसको लेकर कई पोस्ट भी किए गए हैं. बता दें कि इससे पहले भी देश के अलग-अलग हिस्सों में इस तरह की बातों को सामने रखा जा चुका है. जहां महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधों के लिए कभी कपड़ों को, कभी मोबाइल फोन को या अन्य मसलों को मुख्य कारण बता दिया जाता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज