मोदी सरकार ने AMU को दी बड़ी जिम्मेदारी, JN मेडिकल कॉलेज में होगा कोरोना वैक्सीन का ट्रायल

AMU के जेएन मेडिकल कॉलेज को कोरोना वैक्सीन के ट्रायल की जिम्मेदारी मिली है. (file photo)
AMU के जेएन मेडिकल कॉलेज को कोरोना वैक्सीन के ट्रायल की जिम्मेदारी मिली है. (file photo)

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के पीआरओ उमर सलीम पीरजादा ने बताया कि कोरोना वायरस से लड़ने में एएमयू शुरू से ही कोशिशें करता रहा है. अब जो जिम्मेदारी दी गई है, उसके लिए भी काम शुरू कर दिया गया है और 10 नवंबर से कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए लोगों को बुलाया गया है.

  • Share this:
अलीगढ़. उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में भी कोरोना वैक्सीन का ट्रॉयल (Covid-19 Vaccine Trial) होने जा रहा है. दरअसल भारत सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल (JN Medical Colllege) को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. यहां कोरोना वैक्सीन के ट्रायल का काम 14 नवंबर से शुरू होने जा रहा है. ये इंडियन काउंसिल मेडिकल रिसर्च के जरिए जिम्मेदारी दी गई है.

10 नवंबर से रजिस्ट्रेशन, 1000 लोगों की पड़ेगी जरूरत

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पीआरओ उमर सलीम पीरजादा ने बताया कि कोरोना वायरस से लड़ने में एएमयू शुरू से ही कोशिशें करता रहा है. अब जो जिम्मेदारी दी गई है, उसके लिए भी काम शुरू कर दिया गया है और 10 नवंबर से कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए लोगों को बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि 1000 लोगों की जरूरत इसमें रहेगी, जो लोग शामिल होना चाहें वो अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.



उन्होंने कहा कि जेएनएमसीएच अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का लेवल 2 हॉस्पिटल है. भारत सरकार ने एक बार फिर हमें बड़ी जिम्मेदारी दी हैँ. ये हमारी खुशनसीबी है कि फेज 3 कोविड-19 का ट्रायल 14 नवंबर को होना है. इस रिसर्च का मकसद और कोरोना वैक्सीन की सेफ्टी चेक करना है. इसमें भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल मेडिकल रिसर्च के साथ संयुक्त रूप से रिसर्च किया जाएगा.


इच्छुक व्यक्ति यहां कर सकते हैं संपर्क

जो भी लोग रजिस्ट्रेशन कराने के इच्छुक हैं, वो 10 नवंबर से ओपीडी हॉल में आ सकते हैं. हमारी उम्मीद है कि 1000 लोग इसमें शामिल हों. जो भी लोग इस संबंध में जानकारी चाहते हैं मोबाइल नंबर 7455021652 पर संपर्क कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज